पंचशील चिकित्सालय से एक लाख लोगों को होगा फायदा  – शिक्षा राज्य मंत्री


जयपुर। शिक्षा एवं पंचायतीराज राज्यमंत्री श्री वासुदेव देवनानी ने कहा कि पंचशील में 5 करोड़ रूपए की लागत से निर्मित शहरी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र आसपास के एक लाख लोगों को फायदा मिलेगा। यह स्वास्थ्य केन्द्र राजकीय जवाहर लाल नेहरू चिकित्सालय के सैटेलाइट केन्द्र के रूप में विकसित होगा, साथ ही मुख्य चिकित्सालय पर पड़ने वाला मरीजों का भार भी कम होगा।

शिक्षा राज्यमंत्री श्री देवनानी ने मंगलवार को अजमेर जिले के पंचशील में निर्माणाधीन शहरी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र भवन का निरीक्षण किया। उन्होंने चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि भवन निर्माण कार्य में तेजी लाएं। उन्होंने कहा कि आसपास की बड़ी कॉलोनियों सहित शहर की सीमा से लगे गांवों को भी यहां उपचार सुलभ होगा।

उन्होंने कहा कि पंचशील एवं आसपास के क्षेत्र में चिकित्सा सुविधा के लिए लम्बे समय से मांग बनी हुई थी। यहां सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र बनने से करीब एक लाख लोग लाभान्वित होंगे। पंचशील चिकित्सालय में एलोपैथी के साथ ही होम्योपैथी एवं आयुर्वेद का इलाज भी उपलब्ध होगा। यहां विभिन्न प्रकार की चिकित्सा सुविधाएं, लेबर रूम एवं वार्ड भी बनेंगे। उन्होंने कहा कि अजमेर उत्तर विधानसभा क्षेत्र में चिकित्सा सुविधाओं का अभूतपूर्व विकास हुआ है।  शहर में लोगों को उनके घर के आसपास ही चिकित्सा सुविधा उपलब्ध होगी। कोटड़ा पीएचसी, वैशाली नगर में चिकित्सा भवन तथा रामनगर पीएचसी चिकित्सा के क्षेत्र में मील का पत्थर साबित होंगे। इस अवसर पर स्थानीय पार्षद सहित विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।
शिक्षकों की वेतन विसंगति का शीघ्र होगा समाधान 
शिक्षा एवं पंचायतीराज राज्यमंत्री श्री वासुदेव देवनानी ने अजमेर जिले के शिक्षा अधिकारियों को शिक्षकों की वेतन विसंगति संबंधी समस्याओं का तुरन्त निराकरण करने के निर्देश दिए हैं।
शिक्षा एवं पंचायतीराज राज्यमंत्री श्री वासुदेव देवनानी ने मंगलवार को अजमेर जिले के तोपदड़ा स्थित शिक्षा विभाग के कार्यालय में उपनिदेशक व जिला शिक्षा अधिकारी स्तर के अधिकारियों की बैठक ली। उन्होंने अधिकारियें को निर्देश दिए कि अजमेर के शिक्षकों की वेतन विसंगति संबंधी जो भी समस्या है, उसे विशेष प्राथमिकता से निस्तारित किया जाए। इसके लिए अधिकारियों को बीकानेर निदेशालय में भेजकर कार्यवाही की जाएगी।
श्री देवनानी ने बैठक में अधिकारियों को कार्य आवंटन, लम्बित प्रकरणों का निस्तारण, स्टाफिक पेटर्न की समस्या, सघन विद्यालय निरीक्षण तथा शिक्षा का अधिकार आदि विषयों पर चर्चा कर निर्देश दिए कि अधिकारी संवेदनशील होकर कार्य करें। बैठक में विभिन्न स्तरों के अधिकारी उपस्थित थे।