बादल फटने से चार दिनों से फंसे 400 से ज्यादा पर्यटकों को बाहर निकाला गया


उत्तरी सिक्किम में भारी बारिश और बादल फटने से फंसे 427 पर्यटकों को गुरुवार को निकाल लिया गया। अधिकारियों ने कहा कि पर्यटक चार दिनों से बारिश और सड़कें क्षतिग्रस्त होने के कारण फंसे हुए थे। उत्तरी सिक्किम के कलेक्टर राज यादव ने कहा कि प्रशासन ने 427 पर्यटकों को गंगटोक लाने के लिए वाहनों की व्यवस्था की है।

यादव ने न्यूज एजेंसी को फोन पर बताया कि सरकारी और सेना के वाहनों के अलावा, निजी टैक्सियों से फंसे हुए पर्यटकों को चुंगथांग लाया गया। वहां से सभी को बसों से गंगटोक ले जाया गया।

पर्यटकों को फ्री खाना उपलब्ध कराया गया- डीसी

उत्तर सिक्किम के डिप्टी कमिश्नर ने कहा कि फंसे हुए पर्यटकों को चिकित्सा सुविधा उपलब्ध कराई गई। सिक्किम के ट्रैवल एजेंट्स एसोसिएशन ने लाछेन में सभी पर्यटकों को मुफ्त भोजन और रहने की व्यवस्था की। इसमें सेना की गोरखा रेजिमेंट और भारत-तिब्बत सीमा पुलिस ने प्रशासन की मदद की। इस क्षेत्र में मूसलाधार बारिश के कारण उत्तरी सिक्किम में चार दिन पहले 60 से अधिक पर्यटक वाहन लाछेन और जेमा-3 इलाके के बीच फंसे हुए थे।