प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का दिल्ली वालों को क्रिसमस पर तोहफा



प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी क्रिसमस पर दिल्ली वालों को तोहफा देने वाले हैं। इस दिन पीएम मोदी ड्राइवरलेस मेट्रो रेल को हरी झंडी दिखाएंगे। यह दिल्ली की पहली ड्राइवरलेस मेट्रो रेल होगी, जिसे जनकपुरी-बोटानिकल गार्डन लाइन के लिए तैयार किया गया है। फिलहाल इसे कालकाजी से नोएडा के बोटानिकल गार्डन तक चलाया जाएगा।

दिल्ली मेट्रो की नई लाइन 25 दिसंबर से शुरू होगी। पीएम नरेंद्र मोदी कालकाजी से बोटानिकल गार्डन के बीच शुरू हो रही इस नई मेट्रो को हरी झंडी दिखाएंगे। यह लाइन बनकर तैयार है और इसे कमिश्नर मेट्रो रेल सेफ्टी से भी मंजूरी मिल चुकी है। नई लाइन को शुरू करने के लिए पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी के जन्मदिन को चुना गया है। यह लाइन जनकपुरी-बोटानिकल गार्डन रूट का हिस्सा है लेकिन अभी सिर्फ कालकाजी से नोएडा के बोटानिकल गार्डन तक का हिस्सा बनकर तैयार हुआ है।

नोएडा-फरीदाबार के यात्रियों को मिलेगी राहत 
कालकाजी मंदिर से बोटानिकल गार्डन के बीच मजेंटा लाइन खुलने से दो स्टेशनों पर इंटरचेंज की सुविधा मिलेगी। इससे नोएडा और फरीदाबाद के बीच सफर करने वालों के लिए यात्रा आसान होगी, क्योंकि कालकाजी मंदिर स्टेशन पर फरीदाबाद से आ रहे लोग सीधे नोएडा के लिए बोटानिकल गार्डन वाली ट्रेन ले सकते हैं। अब तक उन्हें मंडी हाउस जाकर नोएडा के लिए ट्रेन बदलनी पड़ती थी। इसी तरह नोएडा से कालकाजी जाने वालों को भी मंडी हाउस से ट्रेन बदलकर खान मार्केट और लाजपत नगर घूमते हुए कालकाजी पहुंचना पड़ता था लेकिन अब सीधे बोटानिकल गार्डन से ट्रेन मिल सकती है।

सालभर तक ड्राइवर के साथ चलाई जाएगी मेट्रो
खास बात ये है कि ये दुनिया की सबसे बेहतरीन और एडवांस तकनीक वाली ट्रेन होगी। शुरुआती ट्रेन साउथ कोरिया में बनी हैं और इन्हें वहां से आयात किया गया है। ये ट्रेन यूटीओ यानी अनअटेंडेड ट्रेन ऑपरेशन तकनीक से लैस होगी। बोलचाल की भाषा में कहे तो इन्हें बिना ड्राइवर के भी चलाया जा सकेगा, इसीलिए इन्हें देश की पहली ड्राइवरलेस ट्रेन कहा जा रहा है। हालांकि डीएमआरसी शुरुआती एक साल के लिए ट्रेन को ड्राइवर के साथ चलाएगी।

प्लेटफॉर्म स्क्रीन डोर केवल मेट्रो आने प ही खुुलेंगे 
इस लाइन का कलर कोड होगा मेजेंटा और सभी मेट्रो ट्रेन पर मेजेंटा कलर की पट्टी लगी होंगी। इस मेट्रो लाइन पर सभी स्टेशनों पर प्लेटफॉर्म और ट्रेन के बीच डबल डोर सिस्टम होगा। इसके लिए प्लेटफॉर्म स्क्रीन डोर लगाए गए हैं। ये प्लेटफॉर्म स्क्रीन डोर मेट्रो के प्लेटफॉर्म पर रुकने के बाद ही खुलेंगे और ट्रेन के रवाना होने के साथ ही बंद हो जाएंगे।