ऊर्जा संरक्षण के प्रति जनता में जागरूकता बढ़ी – अध्यक्ष, राज. डिस्कॉमस



राजस्थान ऊर्जा संरक्षण पुरस्कार-2017
जयपुर। प्रदेश में ऊर्जा के दक्ष उपयोग से ऊर्जा बचत करने वाले उद्यमियों, संस्थानों, व्यक्तियों आदि को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से यहा गुरूवार को इंद्रलोक ऑडिटोरियम भटृारक जी की नसियां, में राज्य स्तरीय ऊर्जा संरक्षण पुरस्कार समारोह का आयोजन किया गया।
सामारोह के मुख्य अतिथि राज. डिस्कॉमस के अध्यक्ष श्री श्रीमत पांडे ने कहा कि ऊर्जा संरक्षण के प्रति जनता में जागरूकता में तेजी से वृद्वि हो रही है, जिससे प्रदेश में निरंतर रूप से ऊर्जा की बचत को प्रोत्साहन मिल रहा है।
उन्होंने कहा कि राजस्थान में पर्याप्त मात्रा में बंजर सस्ती भूमि कि उपलब्धता एवं सूर्य की पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध विकिरणों के कारण प्रदेश में सौर ऊर्जा से विद्युत उत्पादन कि व्यापक संभावनाऎं मौजूद है।
श्री पाण्डें ने कहा की प्रदेश में सौर ऊर्जा से उत्पादित विद्युत 2.44 रुपये प्रति यूनिट कि दर से सौर ऊर्जा उत्पादकों द्वारा उपलब्ध करवाई जा रही है जो कि परम्परागत ऊर्जा स्त्रोतों से प्राप्त विद्युत दर कि अपेक्षा कम है।
 समारोह के विशिष्ठ अतिथि जयपुर विद्युत वित्तरण निगम के प्रबन्ध निदेशक श्री आर.जी. गुप्ता ने इस अवसर पर बताया कि ऊर्जा दक्ष उपकरणों की प्राम्भिक लागत सामान्य उपकरणों कि अपेक्षा अधिक है किन्तु उनके भावी परिणाम काफी सुखद पूर्वक है।
इस अवसर पर राजस्थान अक्षय ऊर्जा के प्रबन्ध निदेशक श्री बी.के. दोसी ने आगन्तुकों का आभार व्यक्त करते ऊर्जा संरक्षण पुरस्कार में प्रतिभागीयों द्वारा बढ चढकर भाग लेने हेतु अद्यमियों को धन्यवाद ज्ञापित किया ।
श्री दोसी ने बताया कि राज्य सरकार द्वारा सामान्य लाईटों को एल.ई.डी. लाईट में परिवर्तित करवाये जाने हेतु अनेक प्रयास किये जा रहे हैं। प्रदेश में स्टार रेटेड ए.सी., पंखे. लाईटस आदि उपकरणों के उपयोग को तीव्र गति से प्रोत्साहित किया जा रहा है। प्रदेश मेें राज्य सरकार द्वारा ऊर्जा संरक्षण भवन संहिता भी लागू कि गई है।
राजस्थान अक्षय ऊर्जा के महाप्रबन्धक श्री सुनित माथुर द्वारा अपने स्वागत उद्बोधन मं। अवगत करवाया कि प्रदेश में 2009 से राज्य स्तरीय ऊर्जा संरक्षण पुरस्कारों प्रारंभ किया गया। विगत वर्ष में प्रदेश में विभिन्न उधोगों, संस्थानों, व्यक्तियों द्वारा 2223.31 लाख किलोवॉट प्रतिघंटा विघुत, 73660.41 मीट्रिक टन कोयला, 528.86 किलोलीटर तेल एवं 77.68 लाख न्यूटनधन मीटर गैस की बचत की गई।
आठवें राज्य स्तरीय ऊर्जा पुरस्कारों के विजेता
बड़े वर्ग के सीमेन्ट क्षेत्र में प्रथम पुरस्कार श्री सीमेंट लि0 ब्यावर को- जिन्होंने ऊर्जा संरक्षण के उपायों द्वारा इन्होंने गत वर्ष में 93.00 लाख यूनिटों एवं 15884 MT कोयले का संरक्षण किया। इसके अतिरिक्त विशिष्ट ऊर्जा उपभोग प्रतिशत में भी सर्वाधिक कटौती की है। सीमेन्ट क्षेत्र में ही द्वितीय पुरस्कार जे.के.सीमेंट वक्र्स मांगरोल को, जिन्होने 77.82 लाख यूनिट एवं 18001 MT  कोयले का संरक्षण किया।
पावर प्लांट के क्षेत्र में प्रथम पुरस्कार बरसिंहसर थर्मल पावर स्टेशन,NLC India Ltd.
को। इन्होंने अपने उत्कृष्ठ संरक्षण कार्यों द्वारा 34.45 लाख यूनिट की बचत की। इसके अतिरिक्त हीट रेट में सर्वाधिक कटौती की है। पावर प्लांट के क्षेत्र में ही द्वितीय पुरस्कार अंता गैस पावर स्टेशन, NTPC Ltd. को। इन्होंने अपने उत्कृष्ठ संरक्षण कार्यों द्वारा 22.98 लाख यूनिट एंव 8.33 लाख न्यूटन मीटर क्यूब गैस की बचत की।
बड़े वर्ग के टैक्सटाइल-स्पिनिंग क्षेत्र में प्रथम पुरस्कार आर.एस.डब्ल्यू.एम लि0, लोढा, बांसवाडा को। इन्होंने गत वर्ष में 14.32 लाख यूनिट की बचत की है। इसके अतिरिक्त विशिष्ट ऊर्जा उपभोग प्रतिशत में भी सर्वाधिक कटौती की है। बड़े वर्ग के ही टैक्सटाइल इण्डस्ट्री-डाइर्ंग क्षेत्र मेें प्रथम पुरस्कार सर्वोदय इंडिया लि0 भीलवाड़ा को। इन्होंने अपने उत्कृष्ठ ऊर्जा बचत कार्यों द्वारा   1.20 लाख यूनिट का संरक्षण किया। इसके अतिरिक्त विशिष्ट ऊर्जा उपभोग में भी सर्वाधिक 19.15 प्रतिशत की कटौती की है। बड़े वर्ग के टैक्सटाइल-डाईंग क्षेत्र में द्वितीय पुरस्कार आर.एस.डब्ल्यू.एम लि0,फेब्रिक डिविजन, मोरडी को। आर.एस.डब्ल्यू.एम लि0, फेब्रिक डीविजन,मोरडीे ने गत वर्ष में विशिष्ट ऊर्जा उपभोग में 18.68 प्रतिशत की दूसरी सर्वाधिक कटौती की है।
माईनिग क्षेत्र में हिन्दुस्तान जिंक लि0,रामपुरा अगुचा माईन्स, को प्रथम पुरस्कार- इन्होने 39.94 लाख विद्युत यूनिट का संरक्षण कर प्रथम स्थान प्राप्त किया। इसके अतिरिक्त विशिष्ट ऊर्जा उपभोग में भी 8.85 प्रतिशत की सर्वाधिक कटौती की है। माईनिग क्षेत्र में द्वितीय पुरस्कार हिन्दुस्तान जिंक लि0, सिंदेसर खुर्द  माईन्स,। इसके अतिरिक्त विशिष्ट ऊर्जा उपभोग में भी 4.88 प्रतिशत की कटौती की है।
टायर क्षेत्र में प्रथम पुरस्कार बाल कृष्ण इण्डस्ट्रीज लि0, चौपानकी, को- इन्होंने 18.5 लाख विद्युत यूनिटों एवं 67 MT कोयले की बचत की। इसके अतिरिक्त विशिष्ट ऊर्जा उपभोग प्रतिशत में भी सर्वाधिक कटौती की है।
लार्ज स्केल इण्डस्ट्रीज (जनरल) के क्षेत्र में प्रथम पुरस्कार रेलवे केरिएज़ वर्कशॅाप,जोधपुर- इन्होंने 36000 यूनिटों की बचत कर प्रथम स्थान प्राप्त किया है। इसके अतिरिक्त विशिष्ट ऊर्जा उपभोग प्रतिशत में भी सर्वाधिक कटौती की है। लार्ज स्केल इण्डस्ट्रीज (जनरल) श्रेणी मे द्वितीय पुरस्कार केरिएज एण्ड वेगन  वर्कशाप, बीकानेर को-इन्होंने 6400 यूनिटों की बचत कर द्वितीय स्थान प्राप्त किया है।
ओटोमोबाईल के क्षेत्र मे प्रथम पुरस्कार बॉश लि0 जयपुर को- इन्होंने 11.16 लाख यूनिटों की बचत कर प्रथम स्थान प्राप्त किया है। इसके अतिरिक्त विशिष्ट ऊर्जा उपभोग प्रतिशत में भी सर्वाधिक कटौती की है।
स्मॉल स्केल इण्डस्ट्री (फाउण्ड्री) श्रेणी मे प्रथम पुरस्कार यूनिर्वसल ऑटो फाउण्ड्री लि0,जयपुर को-इन्होंने 3.75 लाख यूनिटों की बचत कर प्रथम स्थान प्राप्त किया है।  स्मॉल स्केल इण्डस्ट्री (जनरल) क्षेत्र मे प्रथम पुरस्कार ग्लोबटेेक इंजीनियर्स एण्ड कंसल्टेंट, जयपुर को- इन्होंने 34,500 यूनिटों की बचत कर प्रथम स्थान प्राप्त किया है। इसके अतिरिक्त विशिष्ट ऊर्जा उपभोग में भी 27.72 प्रतिशत की सर्वाधिक कटौती की है। स्माल स्केल इण्डस्ट्री (जनरल) के क्षेत्र मे द्वितीय पुरस्कार उत्तम (भारत)  इलेक्टि्रकल्स प्रा0 लि0, यूनिट-2,जयपुर को-इसके अतिरिक्त विशिष्ट ऊर्जा उपभोग में भी 16.74 प्रतिशत की कटौती की है। भवन वर्ग की सरकारी  भवन श्रेणी में प्रथम पुरस्कार राजस्थान इलैक्ट्रॉनिक्स एण्ड इन्स्ट्रूमेन्ट्स लि0,जयपुर को-जिन्होंने गत वर्ष में 70000 विद्युत यूनिटों की बचत की। इसके अतिरिक्त विशिष्ट ऊर्जा उपभोग में भी 34.86 प्रतिशत की सर्वाधिक कटौती की है।
भवन वर्ग की सरकारी भवन श्रेणी में द्वितीय पुरस्कार BSNL टेलिफोन एक्सचेंज बिल्िंडग बांसवाडा को- इन्होने विशिष्ट ऊर्जा उपभोग में भी 21.62 प्रतिशत की दूसरी सर्वाधिक कटौती की है। भवन वर्ग की व्यवसायिक भवन श्रेणी में प्रथम पुरस्कार जयपुर रेल्वे स्टेशन, जयपुर को। जिन्होंने गत वर्ष में 4.98 लाख विद्युत यूनिटों की बचत की। इसके अतिरिक्त विशिष्ट ऊर्जा उपभोग प्रतिशत में 27.59 प्रतिशत की सर्वाधिक कटौती की है। भवन वर्ग की व्यवसायिक भवन श्रेणी में द्वितीय पुरस्कार चांदपोल मेट्रो स्टेशन,जयपुर JMRC को। इन्होने विशिष्ट ऊर्जा उपभोग में 19.11 प्रतिशत की दूसरी सर्वाधिक कटौती की है। भवन वर्ग की होटल श्रेणी में प्रथम पुरस्कार आईटीसी राजपूताना,जयपुर को। जिन्होंने गत वर्ष में 61,000 विद्युत यूनिटों की बचत की। भवन वर्ग की होटल श्रेणी में द्वितीय पुरस्कार ताज जयमहल पेैलेस,जयपुर  को। जिन्होंने गत वर्ष में 59,000 विद्युत यूनिटों की बचत की। भवन वर्ग की हॅास्पिटल श्रेणी में प्रथम पुरस्कार रेल्वे हॅास्पिटल जोधपुर को। रेल्वे हॅास्पिटल जोधपुर ने गत वर्ष में 47,000 विद्युत यूनिटों की बचत की एंव साथ ही एनर्जी परफोमेंस इंडेक्स में 17.28 प्रतिशत की सर्वाधिक कटौती की है। भवन वर्ग की हॅास्पिटल श्रेणी में द्वितीय पुरस्कार कोठारी वेलफेयर इन्स्टीट्यूट,बीकानेर को। जिन्होंने गत वर्ष में 85,000 विद्युत यूनिटों की बचत की है एंव साथ ही एनर्जी परफोमेंस इंडेक्स में 15.33 प्रतिशत की दूसरी सर्वाधिक कटौती की है। भवन वर्ग की इन्स्टीट्यूट श्रेणी में प्रथम पुरस्कार स्वामी केशवानन्द इन्स्टीट्यूट, जयपुर को।
रिकग्नेशन Recognition RECA-2017
लार्ज स्केल इण्डस्ट्री  फर्टिलाइजर  क्षेत्र में रिकगनेशन पुरस्कारः
श्रीराम फर्टीलाइजर एण्ड केमिकल्स, कोटा
लार्ज स्केल इण्डस्ट्री  पावर प्लांट क्षेत्र में रिकगनेशन पुरस्कारः
CPP, जावर माईन्स हिन्दुस्तान जिंक लि0, उदयपुर
लार्ज स्केल टैक्सटाइल-स्पिनिंग इण्डस्ट्री मेेंं रिकगनेशन पुरस्कारः
रिलायंस केमोटेक्स इण्डस्ट्रीज़ लि0 उदयपुर
लार्ज स्केल टैक्सटाइल-डाईग इण्डस्ट्री मेेंं रिकगनेशन पुरस्कारः
सोना प्रोसेर्सस इण्डिया लि0 भीलवाडा
लार्ज स्केल इण्डस्ट्री  अॅाटोमोबाइल क्षेत्र में रिकगनेशन पुरस्कारः
अशोक लेलेण्ड लि0, अलवर
लार्ज स्केल इण्डस्ट्री क्लोर एल्कली क्षेत्र में रिकगनेशन पुरस्कारः
श्रीराम विनायल एण्ड केमीकल इण्डस्ट्रीज कोटा
लार्ज स्केल इण्डस्ट्री प्लास्टिक क्षेत्र में रिकगनेशन पुरस्कारः
श्रीराम विनायल एण्ड केमीकल इण्डस्ट्रीज कोटा
लार्ज स्केल इण्डस्ट्री पेंट क्षेत्र में रिकगनेशन पुरस्कारः
सिगवर्क इंडिया प्रा0 लि0, भिवाडी
लार्ज स्केल इण्डस्ट्री टायर क्षेत्र में रिकगनेशन पुरस्कारः
बाल कृष्ण इण्डस्ट्रीज लि0, भिवाडी
मीडियम स्केल इण्डस्ट्री जनरल क्षेत्र में रिकगनेशन पुरस्कारः
राजस्थान इलैक्ट्ॅ्रानिक्स एण्ड इन्स्ट्रूमेन्टस लि0, जयपुर
मीडियम स्केल इण्डस्ट्री सेरेमिक क्षेत्र में रिकगनेशन पुरस्कारः
बीकानेर सेरेमिक प्रा0 लि0, बीकानेर
स्माल स्केल इण्डस्ट्री री-रोलिंग क्षेत्र में रिकगनेशन पुरस्कारः
 श्री पृथ्वी स्टील रीरोलिग मिल्स प्रा0 लि0, जयपुर
बिल्डिग वर्ग के सरकारी भवन क्षेत्र में रिकगनेशन पुरस्कारः
डी आर एम आफिस बीकानेर
बिल्डिग वर्ग के आफिस भवन क्षेत्र में रिकगनेशन पुरस्कारः
बोश लि0 जयपुर
बिल्डिग वर्ग के ईसीबीडी कम्पलायंट बिल्डिग के क्षेत्र में रिकगनेशन पुरस्कारः
श्यशद भवन, हिन्दुस्तान जिंक लि0, उदयपुर
सरकारी विभाग वर्ग के  क्षेत्र में रिकगनेशन पुरस्कारः
1- जयपुर मेट्रो रेल कॅापोरेशन,जयपुर।
2- इलैक्ट्रीकल डिपार्टमेंट,नार्थ वेस्र्टन रेलवे,जयपुर।
3- एनर्जी एफिसियेन्सी सर्विसेज लि0
4- डिपार्टमेंट अॅाफ लोकल सेल्फ गर्वमेंट,राजस्थान
रिकगनेशन (एनर्जी अॅाडिटर/मैनेजर)ः
1- श्री कुलदीप अग्रवाल
व्यक्तिगत श्रेणी मेंः
1- रेडियो मधुबन कम्यूनिटी सोसायटी, आबु रोड
2- डॉ. दीपक शर्मा उदयपुर
3- वात्सल्य अचरोल जयपुर।
4- CII-IGBC जयपुर।
एनर्जी फोरम/क्लब श्रेणी
सेंटर फॉर एनर्जी एण्ड इन्वायरमेंट, एमएनआईटी,जयपुर
इस अवसर पर ऊर्जा दक्ष उपकरणों की प्रदर्शनी का भी आयोजन किया गया, जिसमें
सोलर मैक्स सोलर एनर्जी सोल्युएशन, एमपावर ग्रीन एनर्जी प्रा0 लि0, गियर्स एनर्जी सोल्युएशन प्रा0 लि0, आचीएक मैकेनेजिशन, इंडियन ग्रीन बिल्डिंग काउंसिल, ग्रामीण इंडिया इनोवेशनस प्रा0 लि0, राजस्थान इलेक्टोनिक्स एण्ड इन्सटूमेंटस लि0, एनर्जी ऎफेशेन्सी सर्विस लि0, तथा पेट्रोलियम कनजरवेशन रिसर्च एशोसिऎशन ने भाग लिया व आंगतुकों के ऊर्जा के दक्ष उपयोग के विभिन्न तरीकों/उपकरणों की विस्तार से जानकारी प्रदान की गई।