राहुल गांधी ने चौतरफा हमलों में डिलीट किया ट्वीट



गुजरात चुनावों के दौरान मोदी सरकार पर हमला करने से नहीं चूक रहे राहुल गांधी मंगलवार को खुद अपने ही सवाल से घिर गए. महंगाई पर मोदी सरकार को घेरने की कोशिश में उन्होंने गलत आंकड़ा पेश कर दिया जबकि भाजपा ने इस मौके को लपकते हुए उन पर तंज कसने में देरी नहीं की. दरअसल, राहुल गांधी ने ट्विटर पर महंगाई को लेकर मोदी सरकार से सवाल पूछा. अपने 7वें सवाल में राहुल गांधी ने महंगाई को लेकर जो ग्राफिक्स पेश किया वह गलत था. ग्राफिक्स में खाद्य वस्तुओं की महंगाई 100 प्रतिशत ज्यादा दिखाई गई थी. राहुल गांधी को जब अपनी गलती का अहसास हुआ तो उन्होंने अपने पुराने ट्वीट को डिलीट किया और नया ग्राफिक्स पेश किया जिसमें खाद्य वस्तुओं की महंगाई में हुई वृद्धि को रुपयों में दिखाया गया. महंगाई 100 प्रतिशत ज्यादा दिखाईराहुल ने ट्वीट के साथ जरूरी सामानों की महंगाई को दिखाता एक ग्राफिक्स लगाया था जिसमें 2014 से लेकर अब तक सामानों के दाम में कितने प्रतिशत का इजाफा हुआ, उसके बारे में आंकड़ा दिया था. ग्राफिक्स में जितने प्रतिशत की बढ़ोतरी दिखानी थी, उससे 100 पॉइंट्स ज्यादा दिखाया गया है. ग्राफिक्स में बताया गया है कि 2014 में गैस सिलिंडर की कीमत 414 रुपये थी जो 2017 में 742 रुपये हो गई है और इस तरह उसकी कीमत में 179 प्रतिशत का इजाफा हुआ है. लेकिन बढ़ोतरी का आंकड़ा गलत है. यह इजाफा 179 प्रतिशत के बजाय 79 प्रतिशत होना चाहिए. इसी तरह दाल की कीमत में 177 प्रतिशत का इजाफा बताया गया है जबकि होना चाहिए था 77 प्रतिशत. ग्राफिक्स में बताया गया है कि 2014 में प्याज की कीमत 40 रुपये प्रति किलो थी जो 2017 में 80 रुपये प्रति किलो हो गई है और इस तरह प्याज की कीमत में 200 प्रतिशत का इजाफा हुआ है. लेकिन यह इजाफा 100 प्रतिशत है न कि 200 प्रतिशत. राहुल गांधी को बीजेपी ने घेरा राहुल गांधी के इन तथ्यों पर विरोधी दलों ने उन्हें घेरना शुरू कर दिया. विपक्षी दलों ने तर्क दिए कि राहुल गांधी ने गलत आंकड़े पेश किए हैं. कई जगहों पर इस मामले में कांग्रेस की किरकिरी होती दिखाई दी. सोशल मीडिया पर कांग्रेस के खिलाफ बढ़ते हमले को देखते हुए राहुल गांधी ने इस ट्वीट को हटा दिया. इसके कुछ देर बाद फिर से 7वां सवाल पूछा गया और इस बार महंगाई के चार्ट में वस्तुओं के दाम में इजाफा फीसदी में नहीं बल्कि रुपयों में दिखाया गया. लेकिन इस बार महंगाई पर अपने सवाल को राहुल गांधी ने कुछ शायराना अंदाज में पेश किया. पीएमओ में राज्य मंत्री जितेंद्र सिंह ने ‘गणित की गड़बड़ी’ को लेकर राहुल गांधी पर तंज कसा. उन्होंने कहा, ‘उनके सवाल बेढंग से गढ़े हुए हैं. मैं नहीं जानता कि इन सवालों को कौन लिखता है?’