राहुल गांधी का तंज- अगर भाजपा विधायक दुष्कर्म का आरोपी है तो सवाल मत पूछिए


कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने सोमवार को भाजपा पर निशाना साधते हुए मोदी सरकार की बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ योजना पर चुटकी ली। उन्होंने उत्तर प्रदेश के उन्नाव में दुष्कर्म पीड़िता, उसके वकील और परिजनों के सड़क हादसे में जख्मी होने पर सवाल उठाए। राहुल ने ट्वीट किया, ”देश में महिलाओं के लिए नया शिक्षा बुलेटिन जारी हुआ है। अगर भाजपा विधायक दुष्कर्म का आरोपी है तो सवाल मत पूछिए। वहीं, प्रियंका गांधी ने सवाल उठाया- पीड़िता और गवाहों की सुरक्षा में ढिलाई क्यों है?

पुलिस के मुताबिक, दुष्कर्म पीड़िता, उसकी चाची-मामी और वकील रायबरेली में एक सड़क दुर्घटना का शिकार हो गए। सभी लोग जेल में बंद चाचा से मिलने जा रहे थे। इस दौरान दो लोगों की मौत हो गई। पीड़िता और उसके वकील की हालत नाजुक है। 2017 में नाबालिग लड़की ने विधायक कुलदीप सेंगर पर दुष्कर्म का आरोप लगाया था। इसके बाद पीड़िता ने मुख्यमंत्री आवास के बाहर आत्मदाह की कोशिश की थी।

प्रियंका गांधी ने कहा- हादसा चौंकाने वाला है

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने ट्वीट किया, ”उन्नाव में दुष्कर्म पीड़िता के साथ सड़क हादसा चौंकाने वाला है। इस केस में चल रही सीबीआई जांच कहां तक पहुंची? आरोपी विधायक अभी तक भाजपा में क्यों है? पीड़िता और गवाहों की सुरक्षा में ढिलाई क्यों? इन सवालों के जवाब मिले बिना क्या भाजपा सरकार से न्याय की उम्मीद की जा सकती है?”

क्या हम जंगलराज में जी रहे हैं: कैप्टन अमरिंदर

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि क्या हम जंगलराज में जी रहे हैं? यदि हम अपनी बेटियों की सुरक्षा नहीं कर सकते, उन्हें न्याय नहीं दिला सकते तो एक राष्ट्र के तौर पर हम अपराधी हैं। दूसरी ओर, समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने उन्नाव में पीड़िता के साथ हादसे का मुद्दा लोकसभा में उठाया। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश पुलिस सरकार की निजी पुलिस की तरह व्यवहार कर रही है। पीड़िता के साथ हादसे की सीबीआई जांच होना चाहिए।

यह लड़की को जान से मारने का षडयंत्र: मायावती

बसपा प्रमुख मायावती ने कहा कि दुष्कर्म पीड़िता की कार का रायबरेली में ट्रक से दुर्घटनाग्रस्त होना, प्रथम दृष्टया उसे जान से मारने का षडयंत्र लगता है। सुप्रीम कोर्ट को इस पर संज्ञान लेकर दोषियों पर सख्त कार्रवाई सुनिश्चित करना चाहिए।