राजस्थान के भाजपा विधायक के बेटे को विधानसभा में मिली चपरासी की नौकरी



ज्यादातर राजनेता चाहते हैं कि उनकी संतान उनके बनाए रास्तों पर चलें। लेकिन राजस्थान के भाजपा विधायक इसी से संतुष्ट हैं कि उनके बेटे ने राज्य की विधानसभा में एक चपरासी की सरकारी नौकरी पा ली है। राज्य विधानसभा के सूत्रों ने बताया कि जगदीश नारायण मीणा जो जमवारामगढ़ से भारतीय जनता पार्टी के विधायक हैं उनके पुत्र राम किशन, ने उन 18008 में से एक शख्स हैं जिन्हें चौथी क्लास की नौकरी के लिए चुना गया है। अभ्यर्थियों का चयन एक चयन बोर्ड द्वारा साक्षात्कार के आधार पर किया गया था लेकिन विधायक के बेटे के मामले के चलते चयन प्रक्रिया की जांच के लिए मांग उठाई गई है। मीणा एसटी श्रेणी से संबंधित है।

राजस्थान प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष सचिन पायलट ने कहा कि उच्च स्तर की जांच होनी चाहिए। पायलट ने आरोप लगाया है कि भाजपा सरकार ने, जिसने 15 लाख युवाओं को नौकरी देने का वादा किया था, अब वह पैदा हुई कुछ हजार नौकरियों में भाई-भतीजावाद का इस्तेमाल कर रही है। ‘ग्राम सेवक’ के चयन के दौरान भाई-भतीजावाद की इसी तरह की शिकायतें थीं। यह आरोप लगाया गया था कि ‘विद्यार्थी मित्रों’ की जगह भाजपा नेताओं के रिश्तेदारों को ‘ग्राम सेवक’ के रूप में चुना गया है।