राजस्थान इलेक्ट्रॉनिक्स एण्ड इन्सट्रमेन्ट्स लिमिटेड, जयपुर रील को ’’ऊर्जा संरक्षण पुरस्कार -2017’’ मिला



जयपुर। राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविन्द ने नई दिल्ली में रील के प्रबन्ध निदेशक श्री ए.के. जैन को ’’राष्ट्रीय ऊर्जा संरक्षण पुरस्कार- 2017’’ से सम्मानित किया। यह पुरस्कार कार्यालय एवं बी.पी.ओ. भवन श्रेणी में रील को ऊर्जा प्रबंधन के क्षेत्र में समर्पित प्रयासों के लिए दिया गया है।

नई दिल्ली के विज्ञान भवन में गुरूवार को आयोजित इस समारोह में केन्द्रीय ऊर्जा राज्य मंत्री एवं नवीन औरनवीकरणीय ऊर्जा मंत्री श्री आर. के. सिंह, केन्द्रीय सचिव (एम.एन.आर.ई.) श्री आनन्द कुमार, सचिव (विद्युत) श्री अजय कुमार भल्ला, एवं अन्य गणमान्य भी उपस्थित थे। गुरूवार को ही के दिन, राज्य स्तर पर भी रील के प्रयासो को सराहते हुए, कार्यालय भवन एवं उद्योग की श्रेणी में रील को ’’राजस्थान ऊर्जा संरक्षण पुरस्कार-2017’’ से सम्मानित किया गया।
रील, भारी उद्योग एवं लोक उद्यम मंत्रालय भारत सरकार की सार्वजनिक क्षेत्र की ’’मिनी रत्न’’ कम्पनी है, जो कि गत 36 वर्षों से व्यवसायिक प्रबंधन एवं लाभ के पथ पर अग्रसर है। कम्पनी देश के ग्रामीण क्षेत्रों में इलैक्ट्रॉनिकी, सूचना प्रौद्योगिकी एवं अक्षय ऊर्जा के क्षेत्र में कार्यरत है।
इस अवसर पर श्री जैन ने बताया कि यह पुरस्कार, वर्ष 2015-16 की तुलना में वर्ष 2016-17 में लगभग एक लाख यूनिट बिजली कि बचत का सुपरिणाम हैं। जो कि मौजूदा विनिर्माण उपकरणों को ऊर्जा कुशल उपकरणों से प्रतिस्थापित करने तथा विनिर्माण तथा अन्य क्षेत्रो में, बिजली बचत के आशय से प्रस्तावित किये गये सुधारों से हासिल हुआ है।
रील के प्रबन्ध निदेशक श्री ए.के. जैन ने आयोजको के साथ जूरी, भारी उद्योग मंत्रालय, भारत सरकार, विद्युत मंत्रालय, नवीन औरनवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय, आर. आर. ई. सी. राजस्थान सरकार एवं रीको से प्राप्त मार्गदर्शन का भी आभार व्यक्त किया।
इन प्रतिष्ठित पुरस्कारों के लिए श्री जैन ने रील के कर्मचारियों को बधाई दी और कहा कि कम्पनी ऊर्जा संरक्षण के महत्व को ध्यान में रखते हुए ग्रामीण जनता के सामाजिक और आर्थिक विकास के लिए इलेक्ट्रॉनिक्स, सूचना प्रौद्योगिकी एवं अक्षय ऊर्जा आधारित उत्पादों और सेवाओं में निरन्तरता बनाये रखेगी।