राजस्थान सरकार देश-विदेश के राजस्थानी निवेशको के साथ हैः आयुक्त



जयपुर। भारतीय प्रशासनिक सेवा के वरिष्ठ अधिकारी एवं राजस्थान फाउण्डेशन के आयुक्त श्री विपिन चन्द्र शर्मा ने कहा है कि राजस्थान में निवेश के लिए देश विदेश के अप्रवासी राजस्थानी निवेशको मजबूत इरादो के साथ आगे बढ़ना चाहिए, इसके लिए राज्य सरकार उनके साथ है। घैर्य और साहस की वजह से अन्तोगत्वा उन्हे सफलता अवश्य ही मिलेगी एवं राज्य सरकार उनके साथ है।
आयुक्त श्री शर्मा शनिवार देर सांय महाराष्ट्र के ठाणे क्षेत्र के एक होटेल में राजस्थान सरकार की ओर से आयोजित ‘‘अप्रवासी राजस्थानी मीट’’ कार्यक्रम में उपस्थित मुम्बई-ठाणे के प्रगतिशील उद्यमियो को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि आज राजस्थान में पानी, बिजली, यातायात, कुशल श्रमिक जैसी मूलभूत सुविधाओ की कोई कमी नहीं है। राजस्थान तेजी से विकास कर रहा है। देश-विदेश में बसे राजस्थानी अपनी मातृभूमि से राजस्थान फाउण्डेशन के माध्यम से जुडे।
उन्होंने ने बताया कि राजस्थान के बाहर बसे उद्यमी राजस्थानियो को प्रदेश के आर्थिक-सामाजिक विकास से जोड़ना राजस्थान सरकार की मंशा है। राजस्थानी समुदाय होटल, अस्पताल, शिक्षा, सूचना प्रौद्योगिकी, ,खाद्य प्रसंस्करण, यातायात सहित कई क्षेत्रो में राजस्थान में अपना कारोबार स्थापित कर अपनी मातृभूमि के विकास में अपनी भूमिका अदा कर सकते है। इस के लिए राजस्थान सरकार की एकल खिडकी सुविधा के साथ कम दर पर विभिन्न संसाधनो का उपयोग भी किया जा सकता है। इस क्रम में आयुक्त ने राजस्थान सरकार की बहुउपयोगी अनेक योजनाओ का जिक्र भी किया।
उन्होंने राजस्थान की निरन्तर आर्थिक वृद्धि एवं समृद्धि का चित्रण भी अनेक उदाहरण प्रस्तुत कर किया। श्री शर्मा नेे राजस्थान की औद्योगिक नीति एवं निवेश व टैक्स सरलीकरण पर चर्चा भी की। कार्यक्रम में उपस्थित स्थानीय राजस्थानी निवेशको की अनेक शंकाओ का समाधान आयुक्त ने मौके पर ही किया।
कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए जम्मू कश्मीर में तैनात भारतीय पुलिस सेवा के युवा अधिकारी डां शैलेन्द्र मिश्रा ने कहा कि राजस्थान में वर्षो से कायम अमीरी-गरीबी के बीच का अन्तर आर्थिक विषमता का एक प्रमुख कारण है। राजस्थान सरकार इसे पाटने का भरसक प्रयास कर रही है। उन्होंने देश विदेश में बसे राजस्थानी उद्यमियो से अपील की कि वे अपना निवेश राजस्थान में कर सामाजिक-आर्थिक विकास के मोर्चे से इस विषमता को दूर करे। इसके लिए प्रवासी एवं अप्रवासी राजस्थानियो को आपस में जुडना होगा। कार्यक्रम का संचालन सुप्रािद्ध समाज सेवी वकीलं श्री बी.एल. शर्मा ने किया। इस अवसर पर श्री अनिल बगडिया, श्री भूपेन्द्र, श्री संदीप कर्नावट सहित मुम्बई-ठाणे के अनेक राजस्थानी उद्यमी उपस्थित थे।