राजस्थान में अब फरवरी तक रहेगी ठंड, इन जिलों में चलेगी शीतलहर व बारिश की भी संभावना



 बीकानेर। अब तक का ट्रेंड है कि राजस्थान में मकर सक्रांति के बाद ठंड का असर कम हो जाता है। यदि आप भी ऐसा ही मानकर चल रहे हैं तो सावधान रहिएगा। इस साल ठंड इतनी जल्दी नहीं जाने वाली है, उल्टा ठंड कम होने की बजाय बढ़ेगी। इसका असर फरवरी तक रहेगा। एक्सपर्ट का दावा है कि उदयपुर के अलावा प्रदेश के अन्य संभाग में सर्दी का असर ज्यादा रहेगा। भरतपुर में बारिश की भी संभावना है। पश्चिमी राजस्थान के जैसलमेर का कुछ हिस्सा और बाड़मेर में तापमान बढ़ सकता है, लेकिन अन्य हिस्सों में ठंड पड़ेगी। यहां न्यूनतम तापमान 8 से 10 डिग्री सेल्सियस रहेगा।
मौसम विभाग के मुताबिक सर्दी का असर आने वाले दिनों में उत्तरी भारत से पश्चिमी भारत तक रहेगा। राजस्थान के जयपुर, बीकानेर, भरतपुर, अजमेर, अलवर, जोधपुर सहित अधिकांश हिस्सों में न्यूनतम तापमान 10 डिग्री के आस-पास रह सकता है। इस बीच अगर एक बार फिर वेस्टर्न डिस्टरबेंस बनता है तो बारिश होगी। इसके साथ ही न्यूनतम तापमान बढ़ेगा।
सक्रांति से पहले येलो अलर्ट
मौसम विभाग ने पूर्वी और पश्चिमी राजस्थान के लिए अलग-अलग येलो अलर्ट जारी किया है। इसमें पश्चिमी राजस्थान में बीकानेर संभाग के चार जिले बीकानेर, हनुमानगढ़, चूरू और श्रीगंगानगर में येलो अलर्ट है। यहां दिन में शीतलहर चल सकती है, घना कोहरा भी रहेगा। इसके अलावा पूर्वी राजस्थान के अलवर, भरतपुर, झुंझुनूं, सीकर, दौसा और करौली में भी शीतलहर चल सकती है।