राव शेखाजी की विरासत से नयी पीढ़ी को रूबरू कराएंगे – मुख्यमंत्री



जयपुर। मुख्यमंत्री श्रीमती वसुन्धरा राजे ने कहा कि राजस्थान का गौरवशाली इतिहास ही हमारी पहचान है और हमें इसका भविष्य भी गौरवशाली बनाना है। उन्होंने कहा कि हमारे महापुरुषों और संत-महात्माओं की विरासत को अगर हम आने वाली पीढ़ियों के लिए संरक्षित करेंगे तो हमारे प्रदेश का भविष्य भी वैभवशाली होगा।
श्रीमती राजे महाराव शेखाजी संस्थान की ओर से होटल राजपूताना शेरेटन में आयोजित सम्मान समारोह के दौरान अमरसर में राव शेखाजी पैनोरमा तथा रालावता में मिलिट्री ट्रेनिंग स्कूल की घोषणा के लिए आभार व्यक्त करने आए शेखावाटी क्षेत्र के लोगों को सम्बोधित कर रही थीं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि राव शेखा एक कुशल और धर्मनिरपेक्ष शासक थे। उन्होंने नारी सम्मान को हमेशा सर्वाेच्च महत्व दिया और सामाजिक समरसता की मिसाल पेश की। शेखाजी के जीवन को दर्शाने वाला यह पैनोरमा आने वाली पीढ़ी को उनकी विरासत से रूबरू करवाएगा।
विधानसभा उपाध्यक्ष श्री राव राजेन्द्र सिंह ने मुख्यमंत्री को क्षत्रिय राजवंश पुस्तक भेंट की। शेखावाटी के विभिन्न क्षेत्रों से आए लोगों ने मुख्यमंत्री का चुनरी ओढ़ाकर स्वागत किया।
इस अवसर पर ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज मंत्री श्री राजेन्द्र राठौड़, उद्योग मंत्री श्री राजपाल सिंह शेखावत, वन एवं पर्यावरण मंत्री श्री गजेन्द्र सिंह खींवसर, राजस्थान राज्य धरोहर संरक्षण एवं प्रोन्नति प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री ओंकार सिंह लखावत, विधायक प्रेम सिंह बाजोर तथा अन्य गणमान्यजन उपस्थित थे।