रेप नहीं बल्‍कि सहमति से हुआ था एक्‍ट्रेस के साथ सेक्‍स : स्‍वामी नित्‍यानंद



साधना के आड़ में सेक्‍स रैकेट चलाने और एक्‍ट्रेस से रेप के आरोपी स्‍वामी नित्‍यानंद को आठ सालों के बाद सजा सुनाई जा सकती है। कर्नाटक हाईकोर्ट ने नित्‍यानंद की वह दलील ठुकरा दी है जिसमें उन्‍होंने कहा था कि उनके और अभिनेत्री के बीच शारीरिक संबंध सहमति से बने थे। मीडिया में जो जानकारी मिल रही है उसके मुताबिक अदालत ने नित्यानंद के सहयोगियों के द्वारा दायर की गई आपराधिक संशोधन याचिकाओं को भी खारिज कर दिया है। सत्र अदालत ने 19 फरवरी को नित्यानंद और अन्य के खिलाफ आरोप तय करने का फैसला लिया था, जिसके बाद स्वघोषित साधू के सहयोगियों ने याचिका दायर कर कोर्ट के फैसले को चुनौती दी थी। विस्‍तार से जानिए पूरा मामला

28 मई को होगी अगली सुनवाई

सीआईडी के जांच अधिकारी होनप्पा ने बताया कि उच्च न्यायालय ने आरोपियों के द्वारा दायर की गई याचिकाओं को खारिज कर दिया। मामले की अगली सुनवाई 28 मई को होगी। दिसंबर 2017 में सुप्रीम कोर्ट ने जिला और सत्र अदालत को नित्यानंद के खिलाफ आरोप तय करने और तेजी से सुनवाई करने के लिए कहा था।

कहीं नित्‍यानंद के दबाव में पीडि़ता ने सहमति तो नहीं स्‍वीकारा

शीर्ष अदालत ने कहा था कि अदालत को आरोपियों के द्वारा उनके बचाव में पेश किए जा रहे किसी दस्तावेज के बारे में विचार करने की जरूरत नहीं है। याचिका में यह कहते हुए नित्यानंद और अन्य के लिए राहत मांगी गई थी कि भारत और विदेश में पीड़िता के साथ नित्यानंद ने सहमति से शारीरिक संबंध बनाए थे। लेकिन हाईकोर्ट ने सवाल किया था कि कहीं नित्यानंद ने दबाव बनाकर पीड़िता की सहमति तो स्वीकार नहीं की? 44 वर्षीय नित्यानंद के खिलाफ खिलाफ यौन हमले, बलात्कार, धोखाधड़ी और आपराधिक धमकी के आरोप हैं।

2010 में लीक हुआ था सेक्‍स टेप, जानिए एक्‍ट्रेस के बारे में

नित्‍यानंदा का साल 2010 में एक वीडियो लीक हुआ था. इस वीडियो में स्‍वामी नित्‍यानंद और एक तमिल एक्‍ट्रेस आपत्तिजनक हालत में थे। तब यह वीडियो दक्षिण भारत के कई चैनलों में चला था। जिसके बाद दोनों ने कहा था कि वीडियो के साथ छेड़खानी की गई है। लेकिन अब कंफर्म कर दिया गया है कि वीडियो के साथ कोई छेड़खानी नहीं हुई है। साथ ही वीडियो में नजर आनेवाली अभिनेत्री का भी खुलासा हो गया है। बेंगलुरु के फोरेंसिक साइंस लेबरॉटरी ने कंफर्म किया कर दिया है कि वीडियों के साथ कोई छेड़खानी नहीं हुई है, लेकिन स्‍वामी नित्‍यानंद ने इस दावे को झूठा करार दिया। रिपोर्ट्स के अनुसार, सेंट्रल फोरेंसिक लैब ने यह भी कंफर्म कर दिया है कि स्‍वामी नित्‍यानंद के साथ नजर आनेवाली अभिनेत्री रंजीता थी।

शादी टूटी तो नित्‍यानंद से मिलने लगी एक्‍ट्रेस

रंजीता का असली नाम श्रीवली है और वे कई तमिल, तेलुगु, मलयालम और कन्नड़ फिल्‍मों में कई नामी कलाकारों संग काम कर चुकी हैं। उन्‍हें रंजीता नाम, नेशनल अवॉर्ड विजेता डायरेक्टर पी भारतीराजा ने दिया था। उन्‍हें भारतीराजा ने तमिल इंडस्‍ट्री में एक अभिनेत्री के तौर पर लॉन्‍च किया था। 1992 में नदोदी थेंद्रल से उनके सिने करियर का आगाज हुआ। रंजीता को नंदी अवॉर्ड से भी नवाजा गया था। उन्हें यह अवार्ड साल 1996 में तेलुगू फिल्म ‘माविचिगुरू’ में बेस्ट सपोर्टिंग एक्ट्रेस के लिए मिला था। रंजीता ने साल 2000 में आर्मी मेजर राकेश मैनन से शादी की थी। शादी के दौरान कुछ वक्‍त उन्‍होंने फिल्‍मों से ब्रेक लिया था। रंजीता और राकेश मैनन एकदूसरे को कॉलेज के समय से जानते थे, लेकिन दोनों की ये शादी साल 2007 में टूट गई। साल 2001 से रंजीता ने फिल्‍मों में वापसी की थी. उन्‍होंने कई फिल्‍मों में सपोर्टिंग रोल्‍स प्‍ले किये। इसके अलावा उन्‍होंने तमिल शाम में भी काम किया। नित्यानंद के साथ वीडियो सामने आने के बाद रंजीता का फिल्मी करिअर खत्म हो गया। बताया जाता है कि वो बाद में भी नित्‍यानंद के आश्रम में जाती रहती थीं। साल 2013 में उन्‍होंने सन्‍यासिन बनने की घोषणा कर दी थी। अंतिम बार वो मणिरत्नम की फिल्म ‘रावण’ (2010) में नजर आई थीं। source: oneindia.com