राजद विधायक के तेजस्वी से इस्तीफा मांगने पर तेजप्रताप बोले- उनकी हैसियत नहीं, पार्टी छोड़ें


पटना.  लोकसभा चुनाव में राजद को एक भी सीट नहीं मिलने से पार्टी की नीति और नेतृत्व में बदलाव की मांग पर लालू के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव ने नाराजगी जताई है। उन्होंने विधायक महेश्वर यादव, विधायक भाई वीरेंद्र और नेता रघुवंश सिंह को नसीहत दी है। उन्होंने विधायक महेश्वर यादव की तेजस्वी से इस्तीफे देने की बात पर कहा कि उनकी हैसियत ही क्या है? उन्हें विधायक किसने बनाया। वे किस पार्टी के सहारे विधानसभा पहुंचे। उन्हें पार्टी नेतृत्व पर सवाल उठाने के लिए पहले राजद छोड़ना होगा। बिहार की 40 लोकसभा सीटों में से भाजपा को 17 और एलजेपी और जेडीयू को 22 और कांग्रेस को एक सीट मिली है। राजद का खाता भी नहीं खुला।

तेजप्रताप ने कहा- अगर वे राजद की हार पर अपनी बात रखना चाहते हैं तो पार्टी के फोरम पर रखें। पार्टी नेतृत्व ने 29 मई को बैठक बुलाई है। वे आएं और अपनी बात रखें। महेश्वर ने नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव से पद से इस्तीफा देने को कहा है। उन्होंने चेताया कि अगर तेजस्वी इस्तीफा नहीं देते हैं, तो पार्टी टूट जाएगी। तेजस्वी किसी अन्य जाति के नेता को प्रतिपक्ष की कुर्सी सौंपे। यह नहीं बताया कि उनके साथ कितने विधायक हैं, पर दावा किया कि दर्जनों विधायक उनके साथ हैं और कभी भी फैसला ले सकते हैं।

पार्टी को नए सिरे से बदलना होगा 

राजद नेता रघुवंश सिंह ने कहा कि करारी शिकस्त से उबरने के लिए राजद को नए सिरे से सांगठनिक ढांचा तैयार करना होगा। पार्टी में सभी वर्गों का प्रतिनिधित्व सुनिश्चित करना होगा। यह चुनाव पार्टी के लिए सबक है। सवर्ण आरक्षण का विरोध राजद को भारी पड़ा है। ऐसी नीतियों पर पार्टी को पुनर्विचार करना होगा।

विधायक वीरेंद्र ने कहा- पार्टी में आत्ममंथन हो

भाई वीरेंद्र ने हार के कारणों पर पार्टी नेतृत्व को आत्ममंथन करने की नसीहत दी है। उन्होंने सांगठनिक ढांचे को दुरुस्त करने की बात करते हुए सही तरीके से संचालन के लिए समन्वय समिति या कोर कमेटी बनाने की मांग की है। कहा- राजद का आधार सिर्फ माई समीकरण ही नहीं है, पर क्यों हार हुई इस पर गंभीरता से मंथन कर उसे अमलीजामा पहनाना होगा। हालांकि, उन्होंने नेतृत्व बदलने की महेश्वर यादव की मांग को खारिज करते हुए कहा कि जदयू या भाजपा में ऐसा होता है क्या? नेता नहीं नीति और समन्वय पर बहुत काम करने की जरूरत है।