‘आप’ को थमाया आयकर विभाग ने 30 करोड़ 67 लाख रुपये का नोटिस!


मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उनकी आम आदमी पार्टी की मुश्किलें बढ़ती ही जा रही हैं. ‘आप’ को आयकर विभाग ने 30 करोड़ 67 लाख रुपये का नोटिस थमाया है. केजरीवाल की पार्टी पर आरोप है कि 2014 में विभाग को चंदे के बारे में जो सूचनाएं दी गयी थीं वो सही नहीं थीं. गौरतलब हो कि आम आदमी पार्टी के चंदे को लेकर विपक्षी दल हमेशा हमला बोलते आये हैं. आयकर विभाग ने इस साल की शुरुआत में ही आम आदमी पार्टी के नेताओं को नोटिस जारी किया था और विभाग में पेश होकर चंदे के बारे में सफाई देने को कहा था.

केजरीवाल बोले – आयकर विभाग के नोटिस को मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बदले की कार्रवाई बताया. उन्‍होंने ट्वीट कर कहा, भारत के इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ है कि एक राजनैतिक पार्टी के चंदे को अवैध घोषित किये गये हैं. यह राजनीतिक प्रतिशोध की पराकाष्‍ठा है.
आप ने मनाया पांचवां स्थापना दिवस – आम आदमी पार्टी (आप) ने रविवार को अपना पांचवां स्‍थापना दिवस मनाया. आयोजित कार्यक्रम में संयोजक अरविंद केजरीवाल ने केंद्र में सत्तारुढ़ भाजपा पर आरोप लगाया कि वह सांप्रदायिकता की राजनीति कर पाकिस्तान के हित साध रही है.
केजरीवाल ने कहा, देश बेहद नाजुक दौर से गुजर रहा है, जबकि हिंदू मुसलमान को आपस में लड़ाकर देश को बांटने की कोशिश की जा रही है. हिंदू मुसलमान के नाम पर भारत को बांटना ही पाकिस्तान का सबसे बड़ा मकसद और सपना है. उन्होंने भाजपा पर परोक्ष हमला बोलते हुये कहा, जो लोग देश को हिंदू मुसलमान के नाम पर बांट रहे हैं, वे पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के एजेंट हैं, वे राष्ट्रभक्त का चोला पहने देशद्रोही हैं. केजरीवाल ने कहा कि देश को तोड़ने का जो काम आईएसआई 70 साल में नहीं कर पाई, वह काम भाजपा ने तीन साल में कर दिया. इतना ही नहीं, भाजपा पर आरोपों के बीच केजरीवाल ने आप में मचे अंदरुनी घमासान पर भी पार्टी कार्यकर्ताओं का आह्वान किया कि जब पार्टी और देश के हितों में विरोधाभास हो तो पार्टी के हितों को भूल जाना और देश के हित में काम करना.
भ्रष्टाचार के मामले पर भी केजरीवाल ने भाजपा को आड़े हाथों लिया. उन्होंने कहा कि कांग्रेस की तरह ही केंद्र की भाजपा सरकार ने भी तीन साल में घोटालों की झड़ी लगा दी है. उन्होंने गुजरात विधानसभा चुनाव का हवाला देते हुए कहा कि अब समय आ गया है कि भाजपा की सरकारों को कांग्रेस की तरह ही उखाड़ फेंका जाए. केजरीवाल ने रामलीला मैदान से ही गुजरात के मतदाताओं से भाजपा को हराने वाले उम्मीदवार को वोट देने की अपील की चाहे वह ‘आप’ का उम्मीदवार हो या किसी अन्य दल का.