महिला एसीटीओ के घर 53 लाख रु. नकद, 17 लाख के जेवर मिले


जीएसटी राशि के रिफंड के बदले 1.15 लाख रु. की रिश्वत लेने के आराेप में गिरफ्तार की गई वाणिज्य कर विभाग की असिस्टेंट कॉमर्शियल टैक्स ऑफिसर (एसीटीओ) अनुसूइया कुमारी के घर की तलाशी पूरी हाे गई। एसीबी काे 53.13 लाख रु. नकद व 16.84 लाख रु. के जेवर मिल चुके हैं।

अनुसूइया व परिजनाें के नाम 21 बैंक खाताें, लाॅकर के अलावा लाखाें की एफडीआर, बीमा पाॅलिसियां, ऑडी कार सहित कई चाैपहिया व दुपहिया वाहन ऑर प्लाॅट-दुकानाें सहित कराेड़ाें की संपत्ति का पता चला है। उधर, अनुसूइया सहित उनके लिए घूस लेते हुए पकड़े गए रिटायर्ड लिपिक रवि पारीक तथा एएओ कमलचंद काे एसीबी ने शनिवार काे काेर्ट में पेश किया गया। तीनाें काे जेल भेज दिया गया।

प्रारंभिक पूछताछ में अनुसूइया और आरबीआई से रिटायर उनके पति जगदीश नकदी से संबंधित सवालाें का संताेषजनक जवाब नहीं दे सके। जगदीश वर्ष 2006 में रिटायर्ड हाे चुके, जबकि एक बेटा जयसिंह प्राइवेट सेक्टर में जाॅब करता है और दूसरा बेटा राेहित आईआरएस अफसर है।

कराेड़ाें की संपत्ति के दस्तावेज मिले

  • 21 बैंक खाते व लाॅकर, 8 खाते अनुसूइया के नाम
  • 7 बीमा पाॅलिसियां, 2018 के 50 खाली स्टाम्प मिले हैं
  • 01 ऑडी, स्विफ्ट व मारुति रिट्ज कार व दाे दुपहिया वाहन के दस्तावेज मिले
  • 04 प्लाॅट व दुकानें पति जगदीश व बेटे के नाम
  • 15 लाख की एफडीआर पति के नाम