सचिन की वर्ल्ड इलेवन में जडेजा और पंड्या समेत पांच भारतीय, पर धोनी का नाम नहीं


सचिन तेंदुलकर ने मंगलवार को अपनी वर्ल्ड कप टीम की घोषणा की, लेकिन विकेटकीपर के तौर पर महेंद्र सिंह धोनी की जगह इंग्लिश खिलाड़ी जॉनी बेयरस्टो को शामिल किया। भारतीय खिलाड़ियों में विराट कोहली, उप-कप्तान और टूर्नामेंट में सर्वाधिक स्कोरर रोहित शर्मा, तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह, ऑलराउंडर हार्दिक पंड्या और रवींद्र जडेजा को शामिल किया गया है। रोहित शर्मा को उनके वर्ल्ड कप में सर्वाधिक स्कोर बनाने, जबकि जडेजा को दो मैचों में बेहतरीन प्रदर्शन के कारण जगह दी।

तेंदुलकर ने न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियम्सन को शामिल किया है, जो प्लेयर ऑफ टूर्नामेंट बने। सचिन ने उन्हें अपनी टीम का कप्तान बनाया है। बांग्लादेश के ऑलराउंडर शाकीब अल हसन को भी जगह दी गई। उन्होंने पूरे टूर्नामेंट में 17 विकेट लिए और 600 से अधिक रन बनाए। विश्व कप फाइनल के स्टार रहे इंग्लैंड के बेन स्टोक्स को पंड्या के अतिरिक्त ऑलराउंडर के तौर पर रखा गया। सर्वाधिक 27 विकेट लेने वाले आस्ट्रेलियन पेसर मिशेल स्टार्क के अतिरिक्त इंग्लैंड के जोफ्रा आर्चर और बुमराह को भी जगह दी गई। इंग्लिश टीम में बेयरस्टो के बदले बटलर को विकेटकीपर के तौर पर रखा गया था, लेकिन तेंदुलकर ने अनुभवी धोनी के स्थान पर बेयरस्टो को विकेटकीपर बनाया।

तेंदुलकर की वर्ल्ड इलेवन
रोहित शर्मा, जॉनी बेयरस्टो (विकेट कीपर), केन विलियम्सन (कप्तान), विराट कोहली, शाकिब अल हसन, बेन स्टोक्स, हार्दिक पंड्या, रवींद्र जडेजा, मिशेल स्टार्क, जसप्रीत बुमराह, जोफ्रा आर्चर।

वर्ल्ड कप विजेता का निर्णय एक और सुपर ओवर से होना चाहिए
सचिन तेंदुलकर ने कहा कि विश्व कप विजेता का निर्णय बाउंड्री गिनने के बजाए दोबारा सुपर ओवर करवाकर किया जाना चाहिए था। उन्होंने कहा इस तरह की स्थिति पहले किसी भी वर्ल्ड कप के फाइनल मुकाबले में नहीं देखी गई। उन्होंने कहा- मैं महसूस करता हूं कि वर्ल्ड कप विजेता का निर्णय एक और सुपर ओवर करवाकर किया जाना चाहिए था। उन्होंने कहा कि यह न सिर्फ वर्ल्ड कप फाइनल, बल्कि अन्य मैचों में भी ऐसी स्थिति होने पर किया जाना चाहिए।