जयपुर डेयरी में सायलो के बोल्ट टूटने से 10 मिनट में 15 हजार ली. दूध नाले में बहा


प्रदेश में भीषण गर्मी की वजह से जहां लोग पानी के लिए तरस रहे हैं। वहीं जयपुर सरस डेयरी में अधिकारियों की लापरवाही की वजह से शुक्रवार को करीब 15 हजार लीटर दूध नाले में बह गया। बहते दूध का डेयरी के ठेका कर्मी वीडियो बनाते रहे, लेकिन किसी ने उच्च अधिकारियों को सूचना नहीं दी। इस वजह से दूध पर अधिकारी समय रहते हुए कंट्रोल नहीं कर पाए। दूध की कीमत करीब 7 लाख रुपए आंकी जा रही है। उधर, दूध बहने के पीछे अधिकारियों की आपसी रंजिश की आशंका भी जताई जा रही है।

रोज 8 लाख ली. सप्लाई होती है :

घटना जयपुर डेयरी में बने नए प्लांट की है। यहां से रोज करीब 8 लाख लीटर दूध शहर में सप्लाई होता है। शुक्रवार सुबह 7.30 बजे समितियों से टैंकर से आए दूध को पाश्चराइज्ड करके एक सायलो से दूसरे सायलो में शिफ्ट किया जा रहा था। तभी सायलो के एजिटेटर मोटर के बोल्ट टूटे मिले। शिफ्ट किया दूध टूट बोल्ट से बहता रहा। डेयरी कर्मचारियों की नजर पड़ी तो उन्होंने कंट्रोल रूम को सूचना दी।