सरसंघचालक डॉ़. भागवत ने किया पुस्तकों का विमोचन


जयपुर। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ़. मोहनराव भागवत ने नागौर में बुधवार को राष्ट्रीय साहित्य पर आधारित तीन पुस्तकों को विमोचन किया। इस दौरान राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के क्षेत्र संघचालक डॉ. भगवती प्रसाद भी मौजूद थे।


राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ महानगर प्रचार प्रमुख विवेक कुमार ने बताया कि तीनों पुस्तकों का एक सेट बनाया गया है। जो 30 सितम्बर को प्रचार की विभाग की योजना से पूरे जयपुर प्रांत में विक्रय किया जाएगा। तीनों पुस्तकों की कीमत मात्र पचास रूपए रखी गई है। उन्होंने बताया कि जयपुर में भी यह पुस्तकें विभिन्न स्थानों पर बिक्री के लिए उपलब्ध होगी।
पहली पुस्तक “गाथा गोरा बादल की” में दोनों वीरों की वीरता की कहानी है। उन्होंने कैसे रानी पद्मिनी का सहयोग कर अपनी विरता का परिचय दिया। यह पुस्तक बच्चों के लिए चित्र कथा कॉमिक्स के रूप में उपलब्ध होगी। दूसरी पुस्तक “ कौन हैं अर्बन नक्सल ” इसमें अर्बन नक्सलियों की सच्चाई उजागर की गई है। पुस्तक में यह भी बताया गया है कि कैसे यह देश को नुकसान पहुंचा रहे हैं। पाठक इस पुस्तक को पढ़कर अर्बन नक्सल की सच्चाई समझ पाएंगे। तीसरी पुस्तक “डॉ. हेडगेवार, संघ और स्वतंत्रता संग्राम” है। पुस्तक में बताया गया है कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने स्वतंत्रता आंदोलन में किस तरह अपनी भूमिका निभाई थी।
तीनों पुस्तके राष्ट्रीय विचारों से ओतप्रोत है। देश के इतिहास और वर्तमान को समझने के लिए एवं भविष्य का भारत कैसा हो। इसकी संकल्पना तीनों पुस्तकों में दी गई है। इससे पढ़कर पाठक के विचार और पुष्ट होंगे।