महिला सशक्तिकरण के लिए आत्मनिर्भरता जरूरी  – उच्च शिक्षा मंत्री   


जयपुर। उच्च शिक्षा मंत्री श्रीमती किरण माहेश्वरी ने महिलाओंं के सशक्तिकरण के लिए आत्मनिर्भरता को सर्वोपरि जरूरत बताते हुए ग्राम्य महिलाओं को आह्वान किया है कि वे स्वयं सहायता समूहों के रूप में संगठित होकर अपने हुनर को निखारें तथा स्वरोजगार को अपनाते हुए भविष्य को खुशहाली से सँवारें।
श्रीमती माहेश्वरी ने बुधवार को राजसमन्द जिले के मुण्डोल गांव में राजस्थान ग्रामीण आजीविका विकास परिषद के अन्तर्गत मेवाड़ राजीविका महिला संकुल स्तरीय संघ कलस्टर के तत्वावधान में आयोजित महिला मेले में बड़ी संख्या में उपस्थित ग्रामीण महिलाओं को संबोधित करते हुए यह बात कही।
उन्हाेंने महिलाओं से कहा कि वे अपनी शक्ति तथा सामथ्र्य को पहचानें तथा पूरी जागरुकता के साथ आगे बढ़ें और जीवन में खुशहाली लाएं।  उच्च शिक्षा मंत्री ने महिलाओं के उत्थान की दिशा में सरकार द्वारा संचालित योजनाओं और कार्यक्रमों के बारे में बताया और कहा कि सरकार महिलाओं के सशक्तिकरण और उत्थान के लिए हर स्तर पर व्यापक प्रयास कर रही है। महिलाओं को चाहिए कि वे इनका लाभ लेने के प्रति जागरुक रहें और घर-परिवार, समाज तथा ग्राम्य खुशहाली में सशक्त भागीदारी निभाएं।
इस अवसर पर महिलाओंं को संबंधित जानकारी विषय विशेषज्ञों ने दी। महिलाओं ने सांस्कृतिक प्रस्तुतियां भी दीं तथा अपने अनुभव सुनाए। आरंभ में आयोजकों ने उच्च शिक्षा मंत्री का स्वागत किया। इस अवसर पर उप जिलाप्रमुख श्रीमती सफलता गुर्जर, प्रधान श्रीमती रीना कुमावत, बाल संरक्षण समिति की अध्यक्ष श्रीमती भावना पालीवाल, समाजसेवी श्रीकिशन पालीवाल, श्री गणेश पालीवाल, श्रीमती लीना पालीवाल सहित क्षेत्र के जन प्रतिनिधिगण और समाजसेवी तथा बड़ी संख्या में ग्रामीण महिलाएं उपस्थित थीं।
उच्च शिक्षा मंत्री ने पुठोल में मेधावी विद्यार्थियों को सम्मानित किया
 उच्च शिक्षा मंत्री श्रीमती किरण माहेश्वरी ने बुधवार को पुठोल के चामुण्डा माता मन्दिर चौक पर आयोजित कार्यक्रम में राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय पुठोल के छात्र श्री भरतसिंह को आठवीं बोर्ड में ब्लॉक स्तर पर प्रथम आने पर लैपटॉप प्रदान कर सम्मानित किया। श्रीमती माहेश्वरी ने आठवीं कक्षा की छात्रा सुश्री गोटी कुंवर को जिलास्तरीय विज्ञान मेले में उत्कृष्ट भागीदारी के लिए शिक्षा विभाग की ओर से प्रशस्ति पत्र प्रदान कर सम्मानित किया।