शिवसेना ने गोयल-सीतारमण के बयानों पर कहा- सरकार के मंत्री ही मोदी और शाह का काम मुश्किल बना रहे


शिवसेना ने आर्थिक हालात को लेकर शनिवार को मोदी सरकार की आलोचना की। पार्टी ने मुखपत्र सामना में केंद्रीय मंत्री निर्मला सीतारमण और पीयूष गोयल के अर्थव्यवस्था की स्थिति, बेरोजगारी और ऑटो सेक्टर में आई मंदी को लेकर दिए गए बयानों पर भी कटाक्ष किया।

क्या मंत्रियों की रिसर्च लोगों को नौकरियां दे सकती है: शिवसेना

  1. सामना ने लिखा, ‘‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह शानदार काम कर रहे थे, मगर उनके मंत्री अर्थव्यवस्था और रोजगार की बिगड़ती स्थिति पर हास्यास्पद बयान देकर उनका काम मुश्किल बनाया। आर्थिक स्थिति और रोजगार को लेकर सवाल उठ रहे हैं। हम इसे नजरअंदाज नहीं कर सकते हैं।’’
  2. हाल ही में केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा था कि गुरुत्वाकर्षण की खोज आइंस्टीन ने की थी जबकि निर्मला सीतारमण ने ऑटो सेक्टर में आई मंदी का कारण युवाओं का ओला और उबर का अत्यधिक उपयोग करना बताया था। शिवसेना ने इन्हीं बयानों को लेकर निशाना साधा।
  3. सामना के अनुसार, ‘‘हमारे मंत्री विज्ञान के आधार को बदलने की बात करते हैं। मगर क्या उनकी रिसर्च उन लाखों लोगों को रोजगार दे सकती है, जिन्होंने अपनी नौकरियां खोई हैं। मुंबई-महाराष्ट्र मेट्रो रेल के उद्घाटन पर मुख्यमंत्री ने कहा था कि हर दिन इस ट्रेन से 60 लाख लोग सफर करेंगे। क्या इससे बेरोजगारी बढ़ेगी और ऑटो सेल्स में कमी आएगी।’’
  4. सामना ने लिखा,‘‘पारले जी की बिक्री में भी कमी आई है। 10 हजार लोगों की नौकरियां चली गई हैं। क्या इसका निष्कर्ष यह है कि बच्चों ने बिस्किट खाना बंद कर दिए हैं और वे सभी पबजी खेलने में बिजी हैं?’’
  5. सामना के अनुसार, ‘‘व्यापारियों, किसानों और कर्मचारियों ने अपनी आय का साधन खो दिया है। यह न्यूटन या आइंस्टीन से संबंधित मामला नहीं है। यही बात मनमोहन सिंह ने भी कही थी। ऑटोमोबाइल इंडस्ट्री में स्लोडाउन है मगर देश ने यह देखा कि वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण यह मानने को राजी नहीं हैं।’’
  6. सामना के मुताबिक, ‘‘यदि हम अर्थव्यवस्था की वर्तमान हालत समझना चाहते हैं तो हमें मनमोहन सिंह के हेडलाइंस मैनेजमेंट पर दिए गए बयान को समझना चाहिए।’’ दरअसल, सामना ने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के उस बयान की ओर इशारा किया, जिसमें उन्होंने कहा था कि केंद्र सरकार केवल समाचार-पत्रों की हेडलाइंस मैनेज कर रही है।