अफसरों पर कार्रवाई को लेकर स्पीकर सीपी जोशी और यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल आपस में उलझे


वार्ड पार्षद के चुनाव में धांधली के लिए जिम्मेदार अफसरों पर कार्रवाई के मसले पर मंगलवार को विधानसभा में स्पीकर डॉ.सीपी जोशी और यूडीएच मंत्री शांती धारीवाल के बीच बहस हो गई।

स्पीकर ने बार-बार धारीवाल से कहा कि आप सदन में ही जिम्मेदार अफसरों के खिलाफ कार्रवाई की घोषणा करें। लेकिन धारीवाल ने कोई घोषणा नहीं की। स्पीकर ने रूलिंग तक दे दी लेकिन इसके बाद भी धारीवाल नहीं माने। आखिर में स्पीकर बोले कि मेरी रूलिंग नहीं मानी तो फिर बात करूंगा। गौरतलब है कि विधानसभा में सीपी जोशी और धारीवाल में पहले भी नोकझोंक हो चुकी।

संयम लोढ़ा ने उठाया था गलत परिसीमन का मुद्दा 
शून्यकाल में निर्दलीय विधायक संयम लोढ़ा ने आबू रोड नगर पालिका के वार्ड 13 के उपचुनाव में धांधली का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि इस उपचुनावों में रिटर्निंग अधिकारी ने गलत परिसीमन किया और दूसरे वार्ड के मतदाताओं को इस वार्ड में जोड़ दिया।

रिपोर्ट का इंतजार : धारीवाल 
इस पर जवाब देने खड़े हुए धारीवाल ने कहा कि मामले की एडीएम से जांच करवाई गई थी। इसमें गड़बड़ी तो पाई गई है। लेकिन कार्रवाई के प्रस्ताव के लिए जिला निर्वाचन अधिकारी से जो रिपोर्ट मांगी गई है वह सरकार को अब तक नहीं मिली है, सरकार उसी के इंतजार में है।

मैं आपसे सहमत नहीं : जोशी 
इस पर स्पीकर बोले मैं आपसे सहमत नहीं हूं। यदि अफसर गड़बड़ी करता है और उसके खिलाफ कार्रवाई नहीं होती है तो क्या मैसेज जाएगा। मैं आपको डायरेक्शन देता हूं कि जिम्मेदार अफसर को आज ही सस्पेंड कीजिए। इस पर उपनेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ ने धारीवाल से पूछा कि अब तो अध्यक्ष ने रूलिंग दे दी है उसको मानोगे या नहीं। इस पर अध्यक्ष बोले कि मेरी रूलिंग मानने का काम सदन के बाहर है… नहीं मानोगे तब मैं बात करूंगा।