12 साल के बच्चे ने लगाई फांसी, चूड़ियां और मंगलसूत्र पहने था; ब्लू व्हेल जैसा गेम खेलने का शक


कोटा. राजस्थान के कोटा में 12 साल के बच्चे कुशाल ने मोबाइल गेम खेलते हुए फांसी लगाकर जान दे दी। चौंकाने वाली बात यह भी है कि कुशाल ने चूड़ियां और मंगलसूत्र भी पहना हुआ था। परिजनों ने पुलिस को बताया कि उन्होंने पहले कभी कुशाल को यह चीजें पहने हुए नहीं देखा। बताया जा रहा है कि वो ब्लू व्हेल जैसा कोई गेम खेल रहा था और इसी गेम की स्टेज पार करने के लिए उसने मौत को गले लगा लिया।

हालांकि, पुलिस ने इस तथ्य की पुष्टि नहीं की है। पुलिस अधिकारी मुनिंद्र सिंह ने बताया कि विज्ञान नगर में रहने वाले फतेहचंद्र का बेटा कुशाल कि स्कूल की छुट्टियां चल रही थीं। परिजनों ने बताया कि वो दिनभर घर पर मोबाइल गेम खेलता रहता था। लेकिन कौन सा खेल रहा था इसकी जानकारी अभी नहीं मिल सकी। जांच में पता चलेगा कि गेम कौन सा था और क्या स्टेज पार करने के लिए उसने सुसाइड किया।

परिजनों ने बताया कि सोमवार रात को भी कुशाल मोबाइल पर गेम खेल रहा था। खाना खाकर कुशाल अपने कमरे में ऊपर सोने चला गया। परिजन भी सो गए। मंगलवार सुबह कुशाल नीचे नहीं आया तो परिजन कमरे में पहुंचे। कुशाल कमरे में नहीं मिला तो तलाशने पर शौचालय का दरवाजा अंदर से बंद था, लेकिन वो आवाज लगाने पर कोई रिएक्शन नहीं दे रहा था। परिजनों ने दरवाजा तोड़ा तो कुशाल फांसी के फंदे लटका हुआ मिला।

एमबीएस के रजिस्टर से छुपाई हकीकत 

कुशाल को फांसी के फंदे पर लटका देख परिजन डर गए और उसे उपचार के लिए तुरंत निजी अस्पताल लेकर गए। जहां डॉक्टरों ने जांच कर कुशाल को मृत घोषित कर दिया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने कुशाल के शव को एबीएस अस्पताल पहुंचाया। जहां पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों के सुपुर्द कर दिया गया। इधर, एमबीएस अस्पताल में पुलिस चौकी पर रखे रजिस्टर में से इस पूरी घटना को छुपा लिया गया। इस रजिस्टर में वो हर घटना आवश्यक रूप से दर्ज होती है, जिसमें पुलिस केस बनता है और पोस्टमार्टम होता है। एमबीएस के स्टाफ ने इस घटना को क्यों छुपाया यह जांच का विषय है?