12वीं फेल आईपीएस ने जवानों को पुरस्कृत तक कर दिया और पुलिस सेल्यूट मारती रही, एसओजी ने पकड़ा


फर्जी आईपीएस अफसर बनकर घूम रहे युवक को शुक्रवार को एसओजी ने पकड़ लिया। पकड़ा गया युवक अभय मीणा सवाईमाधोपुर के पिलोदा गांव का रहने वाला है। एसओजी ने आरोपी के खिलाफ मुकदमा दर्ज करके मामले की जांच शुरू कर दी। आरोपी के कब्जे से एसओजी ने आईपीएस की वर्दी, सीआईडी-सीबी का जाली कार्ड व तीन तारे लगी प्राइवेट गाड़ी, वायरलेस सैट और तीन एयरगन बरामद कर ली।

अभय यहां प्रताप नगर में थाने के पास स्थित एक अपार्टमेंट में फ्लैट किराये पर लेकर रह रहा था। उसके साथ लिव इन रिलेशनशिप में उत्तराखंड की एक युवती भी रहती है। एसओजी एडीशनल एसपी करन शर्मा ने बताया कि इस संबंध में गुरुवार को एक व्यक्ति ने सूचना दी कि अभय मीणा फर्जी आईपीएस बनकर लोगों से ठगी करता है। उक्त सूचना के बाद एसओजी की अलग-अलग टीमों ने अभय का पीछा शुरू किया। एक टीम ने गृह विभाग का रिकॉर्ड खंगाला तो दूसरी टीम ने सोशल मीडिया व तीसरी टीम अभय के पीछे लगी रही। उसके बाद गुरुवार को फ्लैट से पकड़ लिया।

प्राथमिक जांच में सामने आया कि अभय ने फेसबुक पर खुद को आईपीएस अफसर व पोस्टिंग एसीपी सीआईडी-सीबी में तैनात होना बता रखा है। फेसबुक पर खुद को आईआईटी दिल्ली से बीटेक पास आउट होना बता रखा है। जबकि वह 12 वीं फेल है। अभय ने उत्तराखंड की एक युवती से दोस्ती करके जयपुर बुलाया और लीव इन रिलेशनशिप में रहने लगे।

कोर्ट में पेश कई मामलों की चार्जशीट की कॉपी भी मिली

अभय का टेरर इतना था कि वह मुफ्त में फाइव स्टार होटलों में मुफ्त में रहता था। पुलिस का कहना है कि अभय के बारे में डिटेल जांच की जा रही है। जांच में कई और मामले खुल सकते हैं। अभय के पास भर्ती परीक्षा के मामले में एसओजी द्वारा पेश की कई चार्जशीट की कॉफी मिली है। जो कोर्ट से निकलवाने की बात बता रहा है। ऐसे में एसओजी को शक है कि ये कहीं न कहीं भर्ती परीक्षा के धांधली करता होगा।

इसके अलावा राजस्थान के अलावा हरियाणा, पंजाब, चंडीगढ़ व दिल्ली मुम्बई के अभय लगातार टूर कर बड़ी-बड़ी पार्टियां अटैंड करता था। जाली कार्ड के माध्यम से कई जगह पहुंच जाता। हैरान करने वाली बात यह कि अभय धड़ेल्ले से फोटो  सोशल मीडिया पर शेयर करता था। सोशल मीडिया में कुछ पुलिस वाले भी अभय के दोस्त थे।