भैरोसिंह शेखावत के परिजनों काे 30 दिन में ही खाली करना होगा बंगला

पूर्व उपराष्ट्रपति भैरोसिंह शेखावत के परिजनों काे 30 दिन में सिविल लाइन स्थित बंगला खाली करना होगा। एडीएम-2 पुरुषोत्तम शर्मा ने यह आदेश पीडब्ल्यूडी के 2017 में दायर किए गए उस प्रार्थना पत्र पर जारी किए, जिसमें उनसे पूर्व में शेखावत को आवंटित किए बंगले को खाली करने का आग्रह किया था।

दो साल से यह मामला एडीएम कोर्ट में फिर मामला लंबित चल रहा था। बंगले में पूर्व उपराष्ट्रपति भैरोंसिंह शेखावत के गाेद लिए नवासे अभिमन्यु सिंह रह रहे हैं। नई राज्य सरकार बनने के बाद यह बंगला विधानसभा के मुख्य सचेतक डाॅ.महेश जाेशी काे आवंटित किया गया।

23 अगस्त से 10 हजार रु. प्रतिदिन जुर्माना भरने का नोटिस पहले ही दिया जा चुका है
बिना अनुमति सरकारी बंगलों पर काबिज हाेने के चलते विधायक नरपत सिंह राजवी काे गहलोत सरकार ने बंगला खाली करने के निर्देश दिए। साथ ही उन्हें 23 अगस्त से 10 हजार रुपए प्रतिदिन के हिसाब से जुर्माना भरने का नोटिस भी दिया। सरकार ने सिविल लाइंस स्थित बंगला नंबर 14 पूर्व उपराष्ट्रपति भैरोसिंह शेखावत को आवंटित किया था। उनके निधन के बाद उनकी पत्नी सूरज कंवर को यह आवास दिया गया। उनका भी निधन हो गया। इसके बाद परिवार को कई बार नोटिस दिए गए पर बंगला खाली नहीं हुआ।

बंगला महेश जोशी को आवंटन करने के बाद से ही पीडब्ल्यूडी ने एडीएम के समक्ष बंगला जल्द खाली करवाने का आदेश जारी करने का आग्रह किया था।

SHARE