चांदी के कड़े लूटने के लिए बदमाशों ने की वृद्धा की हत्या, दोनों पैरों के पंजे काटकर गमले में फेंके


जिले के जमवारामगढ़ इलाके में पिछले तीन दिन से लापता एक वृद्धा का शव रविवार को मिला। हत्यारों ने वृद्धा की हत्या करके दोनों पैरों के पंजों को काटा लिया। माना जा रहा है पैरों में पहने चांदी के कड़ों को लूटने के इरादे से वृद्धा की हत्या की गई। पुलिस को काटे गए दोनों पंजे भी एक गमले में पड़े मिले।

पुलिस ने घटनास्थल का मौका मुआयना कर शव को मोर्चरी पहुंचाया। जानकारी के अनुसार जमवारामगढ़ के पालडीकला गांव निवासी मांगूलाल मीणा की पत्नी नानगी देवी (75) पिछले तीन दिन से लापता चल रही थी। सोमवार को उनका शव घर से करीब डेढ़ सौ मीटर दूर एक खाली मकान में मिला।

मकान से बदबू आने पर ग्रामीणों ने देखा तब हत्या का पता चला। जिस मकान में शव मिला। वहां पूरे कमरे में खून फैला हुआ था। वृद्धा के सिर व धड़ को प्लास्टिक का कट्टा पहनाया हुआ है। प्रथम दृष्टया पुलिस का मानना है कि वृद्धा नानगी देवी की पहले दम घोंटकर हत्या की गई।

इसके बाद उनके पैरों में पहने चांदी के कड़े लूटने के इरादे से दोनों पंजों को टखने के पास से धारदार हथियार से काट दिया गया। दोनों काटे गए पंजे एक गमले में रखकर बदमाश भाग गए। ग्रामीणों ने हत्यारों को गिरफ्तार की मांग को लेकर शव उठने नहीं दिया। सूचना मिलने पर जयपुर ग्रामीण एसपी हरेंद्र महावर व अन्य अधिकारी मौके पर पहुंचे। मामले में एक महिला पर हत्या का आरोप है।