ग्रामण विकास की योजनाओं से आमजन को जोड़ा जाए सरपंच ग्राम स्वराज की अवधारणा की महत्वपूर्ण कड़ी है



जयपुर। राजस्थान के ग्रामीण विकास एवं पंचायत राज मंत्री श्री राजेन्द्र राठौड़ ने कहा कि ग्रामीण विकास के लिए चलाई जा रही फ्लेगशिप योजनाओं से अधिकाधिक आमजन को जोड़ जाये ताकि इन योजनाओं के लक्ष्यों को समय पर पूर्ण किया जा सके। श्री राठौड़ शनिवार को पंचायत समिति चूरू के प्रांगण में आयोजित स्वराज दिवस एवं प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) के लाभार्थियों की जिला स्तरीय कार्यशाला में बोल रहे थे।

श्री राठौड़ ने कहा कि भारत सरकार एवं राज्य सरकार द्वारा ग्रामीण विकास के लिए कई महत्वपूर्ण योजना चलाई जा रही है। जिनकी सहायता से हर ग्रामीण को खुशहाल एवं आत्मनिर्भर बनाया जा रहा है। श्री राठौड़ ने ग्राम विकास में सरपंचों की भूमिका को रेखांकित करते हुए कहा कि सरपंच ग्राम स्वराज की अवधारणा की महत्वपूर्ण कड़ी है, इनकी लगन एवं मेहनत से राजस्थान के ग्राम देश में अपना विकास परचम लहरा रहे है।

उन्होंने बताया कि पिछले दिनों जबलपुर में आयोजित राष्ट्रीय पंचायत दिवस समारोह में राजस्थान की कई पंचायतों को सम्मानित किया गया, ये सम्मान सरपंचों के लिए ग्रामीण विकास के लिए उत्प्रेरक का कार्य करेंगे। श्री राठौड़ ने कहा कि ग्राम स्वराज अभियान 14 अप्रैल से शुरू होकर 5 मई तक चलाया जा रहा है जिसमें विभिन्न कार्यक्रमों के माध्यम से ग्रामीणों को जागरुक एवं विकास योजनाओं से लाभान्वित किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि हमारी सरकार ने पिछले चार साल में ग्रामीण क्षेत्रों में 48600 करोड़ से ज्यादा के विकास कार्य करवाये हैं तथा वर्ष 2018-19 में 16600 करोड़ का बजट ग्रामीण विकास के लिए आवंटित किया है। इससे राजस्थान के गांवों में असली स्वराज लाया जा सकेगा। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार सभी के लिए आवास उपलब्ध करवाने के लिए कृत संकल्प है और वर्ष 2018-19 तक 6 लाख 75 हजार परिवारों को आवास स्वीकृति के लक्ष्यों के विरूद्ध 4 लाख 44 हजार आवास स्वीकृत किये जा चुके हैं।

उन्होंने बताया कि जल्द ही 2 लाख और आवासों की स्वीकृति मिल जायेगी इस प्रकार हमारी सरकार पांच साल में करीब 11 लाख पचास हजार आवास प्रदान करने का लक्ष्य हासिल कर ग्राम स्वराज की संकल्पना को साकार करने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करेगी। कार्यशाला के दौरान श्री राठौड़ ने प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभार्थियों, उज्जवला योजना के लाभार्थियों तथा बिजली कनेक्शन के लाभार्थियों को स्वीकृत पत्र भी प्रदान किये।

उन्होंने प्रधानमंत्री आवास योजना में उत्कृष्ठ कार्य करने वाले जनप्रतिनिधियों, सरपंचों, कार्मिकों एवं अन्य योजनाओं में उत्कृष्ठ कार्य करने वाले कार्मिकों को भी सम्मानित किया। इस अवसर पर जिला कलेक्टर श्री ललित कुमार गुप्ता ने कार्यशाला में उपस्थित सहभागियों को सातों फ्लेगशिप योजनाओं यथा प्रधानमंत्री आवास योजना, प्रधानमंत्री सोभाग्य योजना, प्रधानमंत्री उज्जवला योजना, प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति योजना, मिशन इन्द्रधनुष एवं दीनदयाल ग्राम ज्योति योजना के बारे में विस्तार से बताया तथा इनका अधिक से अधिक लाभ लेने के लिए ग्रामीण भागीदारों को प्रेरित किया। कार्यशाला में सुजानगढ के विधायक श्री खेमाराम मेघवाल सहित विभिन्न ग्रामों के सरपंच एवं पंचायत समितियों के प्रधान सहित ग्रामीण विकास से जुड़े विभिन्न विभागों के अधिकारीगण मौजूद थे।