कक्षा 8 का छात्र मासूम से 3 माह से कर रहा था कुकर्म, तीसरी का स्टूडेंट है पीड़ित


कोटा। शहर के सरकारी स्कूल में एक चौंकाने वाला शर्मनाक मामला सामने आया है। एक 8वीं के छात्र ने तीसरी कक्षा के छात्र के साथ कुकर्म किया। पीड़ित 11 वर्ष और आरोपी 16 वर्ष का है। आरोपी छात्र ऐसा तीन माह से कर रहा था और पीड़ित छात्र को चुप रहने के लिए डरा रखा था। वो उसे मारने-पीटने की धमकियां देता था। तीन माह में करीब 4 से 5 बार आरोपी ने पीड़ित छात्र के साथ कुकर्म किया। इधर, अनंतपुरा पुलिस ने पीड़ित छात्र के पिता की रिपोर्ट पर मुकदमा दर्ज करके मामले की जांच शुरू कर दी है।

अनंतपुरा थाने के एएसआई देशराज ने बताया कि सरकारी स्कूल में पढ़ने वाले तीसरी कक्षा के एक छात्र के पिता ने रिपोर्ट दी है, जिसमें कहा है कि उसके बेटे के साथ स्कूल का ही एक छात्र पिछले 3 माह से कुकर्म कर रहा था। पीड़ित बच्चे ने पूछताछ में बताया कि स्कूल में एक लड़का उसके साथ कई दिनों से कुकर्म कर रहा था और इसके बारे में किसी को बताने से मना कर रखा था।

किसी को बताने पर उसने उसे जान से मारने अाैर गड्ढे में दबाकर मारने की धमकी दे रखी थी। पीड़ित बालक ने इसकी जानकारी माता-पिता को दी, जिस पर माता-पिता अपने बालक को लेकर अनंतपुरा थाने आए और मामले की रिपोर्ट दर्ज करवाई। पुलिस ने पीड़ित परिजनों की रिपोर्ट पर मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

आरोपी छात्र स्कूल से हो चुका निष्कासित 
आरोपी छात्र शुरुआत से अपराधिक प्रवृत्ति का है। वो स्कूल में दूसरों से मारपीट करता है, टीचर्स को भी गाली-गलौच करता है, कभी समय पर स्कूल नहीं आता और वो गर्मी की छुट्टियों के बाद से स्कूल आया ही नहीं। उसे व परिजनों को कई बार नोटिस दिए गए थे। इसके चलते उसे पहले से ही निष्कासित किया जा चुका था। स्कूल की प्रिंसिपल सुशीला पूनिया ने बताया कि मंगलवार को आरोपी छात्र स्कूल आया तो उसे हमने कक्षा में बैठने नहीं दिया और माता-पिता को बुलाकर लाने को कहा। इसी दौरान कक्षा 3 का पीड़ित छात्र मेरे पास आया और कहा कि उसका पेट दुख रहा है और घर जाना है। उसे उसकी क्लास टीचर के पास भेजा तो वहां उसने कहा कि आरोपी छात्र उसे मारता है, इसलिए पेट दुखता है। आरोपी छात्र स्कूल से जा चुका था, इसलिए क्लास टीचर ने पीड़ित को घर भेज दिया।

आरोपी को देख डर गया पीड़ित, ऐसे हुआ घटना का खुलासा 
पीड़ित आरोपी को देखकर घबरा गया था, इसलिए उसने घर जाकर माता-पिता को अपनी आपबीती बताई तो वे स्कूल पहुंचे। उन्होंने प्रिंसिपल सुशीला से बात की तो उनके होश उड़ गए। प्रिंसिपल ने आरोपी के परिजनों को स्कूल बुलाया और इसी दौरान परिजनों ने तुरंत पुलिस को सूचना दी। आरोपी छात्र को पुलिस के हवाले कर दिया गया। प्रिंसिपल सुशीला का कहना है कि चार बार कुकर्म की बात सामने आई है। दोनों का स्कूल में आमना-सामना ही नहीं हुआ, क्योंकि तीसरी का छात्र इसी सत्र से स्कूल आया और इस सत्र में आरोपी स्कूल ही नहीं आया। यह शोषण आरोपी ने स्कूल के बाहर किया।