बंद मकान में घुसे चोर; पड़ोसी ने देख लोगों को बुलाया, दो चोरों को पकड़कर धुना, एक चोर ने खुद को कमरे में बंद कर लिया, फिर बोला- पुलिस को बुलाओ नहीं तो फांसी लगा लूंगा

कस्बे के वार्ड 30 के एक बंद मकान में मंगलवार रात चोरी की नीयत से घुसे दो जनों को मोहल्ले के युवकों ने पकड़कर पीट दिया। इससे पहले उक्त चोरों ने बचने के लिए हमला करते हुए मोहल्ले के दो-तीन युवकों को घायल भी कर दिया। बंद मकान में दो चोर के घुसने का पता पड़ोसी के लघुशंका के निकलने के दौरान लगा।

वार्ड 30 के सिकंदर पुत्र इस्माइल कायमखानी का घर तीन दिन से बंद था। सिकंदर विदेश में है, जबकि उसकी पत्नी शहनाज बानो शादी में जाबासर झुंझुनूं गई हुई थी। दो अज्ञात लोग चोरी की नीयत से बंद मकान में घुस गए। रात को पड़ोसी युवक अयूब खान लघुशंका के लिए छत पर बने कमरे से बाहर आया, तो उसे सिकंदर के मकान में हलचल दिखाई दी। तब उसने फोन कर पड़ोसियों को जगाया। देखते ही देखते मोहल्ले के कई युवक एकत्रित हो गए तथा मकान को घेर लिया। इसी दौरान दोनों चोर सामान लेकर मकान के पिछवाड़े से कूदकर भागने लगे, तो युवकों ने उन्हें दबोच लिया। लेकिन चोरों ने उन पर हमला बोल दिया, जिसमें वार्ड के युवक रिजवान, समीर व मुबारिक चोटिल हो गए। इसके बावजूद इन्होंने हिम्मत नहीं हारी।

इस दौरान शोर सुनकर मोहल्ले के अन्य लोग भी वहां आ गए और दोनों चोरों की जमकर धुनाई कर दी। पकड़े गए चोरों की शिनाख्त हनुमानगढ़ निवासी पूर्णाराम बावरी व फाजिलका पंजाब निवासी सज्जनकुमार कुम्हार के रूप में हुई है। पिटाई से चोर पूर्णाराम व सज्जनकुमार भी चोटिल हो गए। बाद में मौके पर पहुंची पुलिस घायलों को अस्पताल ले गई, जहां प्राथमिक उपचार के बाद रिजवान, समीर व मुबारिक तथा चोर सज्जनकुमार को छुट्टी दे दी। वहीं चोर पूर्णाराम को बीकानेर रैफर कर दिया। इस संबंध में बुधवार को आलम हसन पुत्र जहांगीर खान की रिपोर्ट पर पूर्णाराम व सज्जनकुमार के खिलाफ चोरी करने तथा मोहल्ले के युवकों पर हमला करने का मुकदमा दर्ज हुआ है।

एक चोर को गिरफ्तार किया, दूसरा अस्पताल में है भर्ती

वारदात को अंजाम देने वाले चोरों में से एक सज्जनकुमार ने खुद को कमरे में बंद कर लिया तथा मोहल्ले के लोगों से कहने लगा कि जल्दी पुलिस को बुलाओ, तभी कमरा खोलूंगा। अगर पुलिस नहीं बुलाओगे, तो कमरे में फांसी लगा लूंगा। जिस पर वार्ड के लोगों ने घटना की सूचना पुलिस को दी। प्रत्यक्षदर्शी अयूब के अनुसार ये लोग सरदारशहर बाइपास सड़क मार्ग से होते हुए घर में घुसे थे। घर में घुसने से पहले इन्होंने घर के मुख्य दरवाजे पर लगा ताला तोड़ा और घर में घुस गए। कमरों के ताले तोड़कर चोरी की वारदात को अंजाम दिया। इनके पास राॅड, प्लास, पेचकस, टॉर्च मिले हैं। सीआई हरजिंद्रसिंह ने बताया कि सज्जनसिंह को गिरफ्तार कर लिया है।

मेडिकल ज्यूरिस्ट के व्यवहार से परिजनों के बीच नोकझोंक, पीएमओ ने गठित की जांच टीम
लोगों द्वारा चोर पकड़ने की घटना में घायल हुए लोगों को जब पुलिस अस्पताल लेकर पहुंची, तो वहां लोग आक्रोशित हो गए, इसका कारण यह था कि मेडिकल ज्यूरिस्ट डॉक्टर रविंद्र कड़ेल तथा मोहल्ले के घायल युवकों के परिजनों के बीच तकरार हो गई। डॉक्टर कड़ेल द्वारा परिजनों को वार्ड से बाहर जाने का कहा गया। इस दौरान उपस्थित मीडिया कर्मियों से भी डॉक्टर कड़ेल उलझ गए। इस बात को लेकर ड्यूटी पर तैनात डॉ. राजेश ने लिखित में पीएमओ डॉ. कड़ेल की शिकायत दी, जिस पर पीएमओ डॉ. राजेंद्र गौड़ ने डॉ. जीवराजसिंह चौधरी व डॉ. राकेश गौड़ की टीम गठित कर जांच कमेटी गठित कर दी, जो पीएमओ को रिपोर्ट देगी। मेडिकल ज्यूरिस्ट के व्यवहार को लेकर मोहल्ले के लोगों व मीडियाकर्मियों में भी आक्रोश है।

भास्कर लाइव: मैं छत पर बने कमरे में सोया था, रात डेढ़ बजे लघुशंका के लिए उठा तो हलचल दिखाई दी
मैं अयूब खान। मेरा घर सिकंदर के घर के पास में ही है। मैं रात को छत पर बने कमरे में सो रहा था। रात को करीब डेढ़ बजे मैं लघुशंका के लिए उठा तो मुझे कुछ तोड़ने की आवाज सुनाई दी। देखा तो दो जने पड़ौसी सिकंदर के घर का मैन गेट का कुंडा तोड़ रहे थे। मैं कुछ करता उससे पहले वे दोनों चले गए। मैं पूरी नजर रखे हुए था। करीब 10 मिनट बाद दोनों वापस आए और सिकंदर के घर में घुस गए। दोनों कमरों के ताले तोड़कर चोरी करने लगे। इस दौरान मैने आसपास के युवकों को मोबाइल से फोन कर इस बारे में बताया और चोरों को पकड़ने की योजना बनाई। आठ-दस युवकों को बुला सिकंदर के घर को आगे-पीछे से घेर लिया। उसी दौरान चोरों को हमारी भनक लग गई। एक चोर छत पर चला गया और दूसरे ने अपने आपको कमरे में बंद कर लिया और पुलिस बुलाओ बोलने लगा। तभी छत वाला चोर कूदकर पीछे की तरफ भागने लगा। उसे देखकर कमरे वाला चोर भी भागने लगा। तभी दोनों को पकड़ लिया।

SHARE