खुलेआम प्राइवेट पार्ट्स को लेकर बात करती है ये महिला!



मुंबई। मायानगरी मुंबई की रहने वाली अंजु किश जब मंच से लोगों के सामने प्राइवेट पार्ट्स के बारे में खुलेआम बोलती है तो कुछ लोग शर्माने लग जाते हैं, कुछ चेहरे पर हाथ फेरने लगते हैं, किसी के चेहरे पर नर्वसनेस दिखने लगती है तो कुछ अंजु की ओर हैरानी भरी निगाहों से देखने लग जाते हैं। उनकी आंखों में सवाल होता है कि आखिर 50 साल की महिला सेक्स को लेकर इस तरह से कैसे बोल पा रही है।

सेक्स एजुकेशन का अनोखा तरीका – अंजु एक स्टैंडअप कॉमेडियन हैं और अलग-अलग जगहों पर लाइव ऑडियंश के सामने परफॉर्म करती है। दो टीनेजर बेटों की मां अंजु ने सेक्स एजुकेशन के लिए अनोखा तरीका खोजा और अपने ह्यूमर को हथियार बनाकर लोगों को हंसी-हंसी में सेक्स एजुकेशन के बारे में बताना शुरू किया। शुरूआत में मुश्किल भी हुई, लेकिन धीरे-धीरे लोगों ने भी उन्हें प्रोत्साहित करना शुरू किया। कई बार को ऑडियंश में उनके बेटे भी मौजूद होते हैं और वो बिना किसी झिझक के सेक्स और प्राइवेट पार्ट्स को लेकर बात करती हैं। कई बार तो वो अपने परफॉर्मेस के लिए अपने बेटों को भी सेट पर बुला लेती हैं।

सेक्स एजुकेटर हैं अंजु – अंजु पिछले 6 सालों से एक सेक्स एजुकेटर के तौर पर काम कर रही हैं। लेकिन उनके इस काम के लिए उन्हें कई बार मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। लोग उन्हें एडल्ट जोक्स भेजते हैं। अश्लील तस्वीरें उनके व्हाट्सएप पर भेजते हैं और तो और उनके बेटों को भी ट्रोल किया जाता है। उनके बेटों को समय-समय पर उनके इस काम की वजह से लोगों की हंसी का पात्र बनना पड़ता है। अंजु के दो बेटे रोहिल(19 साल) और ऋशिल(15 साल) का उनके दोस्त और आसपास के लोग मजाक उड़ाते हैं। लेकिन रोहिल और ऋशिल को लोगों की बातों से फर्क नहीं पड़ता। वो रेगुलर अपनी मां के सेक्स एजुकेशन क्लास को ज्वॉइन करते हैं।

शुरू किया सेक्स एजुकेशन एकैडमी – अंजु ने नागपुर की एक पूर्व पत्रकार की मदद से सेक्स एजुकेशन एकैडमी शुरु की। साल 2011 में इस एकैडमी की शुरुआत की गई, जहां बच्चों को टीनेजर्स को उन बातों के बारे में बताया जाता है, जिनके बारे में मां-बाप भी बात करने से हिचकिचाते हैं। इस एकैडमी में अंजु उन चीजों के बारे में आराम से बात करती हैं। वो कॉमेडी, एनिमेशन वीडियोज और गानों के जरिए टीनेजर्स को सेक्स और प्राइवेट पार्ट्स के बारे में बताती है। अंजु ऐसे माहौल में बच्चों को सेक्स एजुकेशन के लिए प्रेरित कर रही हैं, जहां घरों और स्कूलों में सेक्स को लेकर खुलकर बात कर नहीं की जाती है।