यातायात व्यवस्था को ज्यादा बेहतर बनाने के लिए डीसीपी ट्रेफिक ने ली संपर्क सभा, सुझाव व समस्याएं जानीं

जयपुर. शहर में पिछले दिनों हुए सड़क हादसे के बाद डीसीपी ट्रेफिक राहुल प्रकाश ने रविवार को यातायात नियंत्रण कक्ष, यादगार भवन परिसर में एक संपर्क सभा बुलाई। जिसमें डीसीपी राहुल प्रकाश ने वहां मौजूद यातायात पुलिसकर्मियों के साथ सीधे संवाद किया। फिल्ड में मौजूद पुलिसकर्मियों से यातायात व्यवस्था को बेहतर बनाने के लिए सुझाव मांगे। उनकी समस्याएं सुनीं।

वहीं, पुलिस उपायुक्त राहुल प्रकाश ने यातायात नियमों के उल्लंघन कर दुर्घटना करने वाले वाहन चालकों के विरूद्व सख्ती से कार्यवाही करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि लाल बत्ती का उल्लंघन, निर्धारित गति से तेज गति में वाहन चलाना, मोबाईल फोन का उपयोग करना, शराब पीकर वाहन चलाना, गलत दिशा में वाहन चलाने व ब्लैक फिल्म लगी गाड़ियों के विरूद्व कार्रवाई के निर्देश दिए।

इसके साथ ही यातायात पुलिस की हॉक टीम को नो-पार्किंग में खडे़ वाहनों के विरूद्व कार्रवाई के निर्देश दिए। डीसीपी ने कहा कि एमवी एक्ट के तहत कार्यवाही के दौरान उल्लंघनकर्ता द्वारा आदेशों की अवहेलना कर वाहन को भगा ले जाता है व राजकार्य में बाधा उत्पन्न करता है तो उसके विरूद्व मुकदमा दर्ज करवाएं। आमजन से अच्छा व्यवहार करने के निर्देश दिए।

पुलिसकर्मी ने कहा- चालक ने कार चढ़ाने का प्रयास किया, तब यूं पकड़ा

संपर्क सभा में एसआई गुलाब सिंह ने बताया कि वह 20 जुलाई को मुकेश चन्द व लालचन्द के साथ रेलवे स्टेशन पर ड्यूटी पर तैनात थे। तभी शाम करीब 5.45 बजे पोलोविक्ट्री की तरफ से सफेद रंग की कार रेलवे स्टेशन की तरफ आते नजर आई। तब उन्होंने कार को रुकवाने की कोशिश की।

तब चालक कार को कट मारते हुए वापस पोलोविक्ट्री तरफ भगा ले गया। यदि कांस्टेबल लालचन्द तुरन्त साईड में नहीं होता तो कार चालक कांस्टेबल लालचंद पर कार सकता था। बाद में, कंट्रोल रुम के जरिए नाकाबंदी करवाई।

तब चालक ने एक बाइक को टक्कर मार दी। इसके बाद लोगों ने पीछा किया। तब कार चालक गाड़ी को गोपालबाड़ी की तरफ ले गया। जहां उसकी कार का टायर फट गया। तब पुलिस ने लोगों की मदद से कार चालक को पकड़ा। उसके खिलाफ सदर थाने में मुकदमा दर्ज करवाया।

SHARE