खुले में शौच कर रहे दो बच्चों की पीट-पीटकर हत्या, आरोपी ने कहा- सपने में राक्षसों के संहार का आदेश मिला


सिरसौद इलाके में बुधवार को सड़क किनारे शौच कर रहे दो बच्चों की लाठी से पीटकर हत्या कर दी गई। मृतकों के नाम रोशनी (12) और अविनाश (10) हैं। पुलिस ने दो आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। इनमें से एक हाकिम यादव ने कहा कि उसे सपने में राक्षसों के संहार का आदेश मिला था।

एसपी राजेश चंदेल ने बताया कि इस मामले की अंधविश्वास और छुआछूत के एंगल को भी ध्यान में रखकर जांच की जा रही है।

आरोपियों ने बच्चों का वीडियो भी बनाया
पुलिस ने बताया कि भावखेड़ी गांव में मनोज वाल्मीकि परिवार के साथ रहता है। मनोज की 12 साल की बहन रोशनी और उसका बेटा अविनाश शौच के लिए गए थे, तभी दोनों की पीट-पीटकर हत्या कर दी गई। घटना के बाद गांव में तनाव है। बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है। दूसरे आरोपी का नाम रामेश्वर यादव है। आरोपियों ने बच्चों का वीडियो भी बनाया था।

पीड़ित परिवार ने लगाया छुआछूत का आरोप
रोशनी के भाई मनोज ने बताया कि आरोपी हाकिम उसके परिवार से रंजिश रखता था। हाकिम के घर का एक सदस्य सरपंच है और उसने मनोज के घर में शौचालय भी नहीं बनने दिया। मनोज का आरोप है कि गांव में लोग उसके परिवार को जातिसूचक शब्दों से बुलाते हैं। हैंडपंप पर भी पानी तब भरने दिया जाता है, जब ऊंची जाति के लोग पानी भर लेते हैं।