उद्धव ने कहा- मोदी सरकार देश में समान नागरिक आचार संहिता लागू करे, राम मंदिर के लिए कानून बनाए

शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने मंगलवार को मोदी सरकार से देश में सामान नागरिक आचार संहिता लागू करने की मांग की। मुंबई में विजयादशमी पर अपनी पारंपरिक रैली में उन्होंने कहा कि लोग भाजपा से गठबंधन को लेकर हमसे सवाल पूछते थे। लेकिन आज कह सकते हैं कि जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाने के लिए हमने भाजपा का साथ दिया। अब जितना जल्दी हो गृह मंत्री अमित शाह को यूनिफॉर्म सिविल कोड लागू करना चाहिए। राम मंदिर निर्माण के लिए कानून बनाया जाए।

उद्धव ने कहा, ”अयोध्या में राम मंदिर के लिए हमने हमेशा आवाज उठाई और इसके निर्माण तक निरंतर प्रयास करते रहेंगे। मोदी सरकार मंदिर निर्माण के लिए कानून बनाए। हम जान दे सकते हैं, लेकिन अपने वादे को व्यर्थ नहीं जाने देंगे। ये शिवसेना की नीति है। हमने राम के नाम पर कभी राजनीति नहीं की। श्रीराम ने अपने पिता के लिए सबकुछ त्याग दिया। क्या हम उनके नाम पर राजनीति करेंगे?” उद्धव ने कहा कि छत्रपति शिवाजी महाराज और मराठी लोगों को छोड़कर शिव सैनिक किसी के सामने नहीं झुकते हैं।

‘शरद पवार, मायावती देश नहीं चला सकते’

शिवसेना अध्यक्ष ने महाराष्ट्र में विधानसभा चुनाव के मद्देनजर कांग्रेस, राकांपा समेत विपक्षी दलों पर निशाना साधा। उन्होंने कहा, ”क्या आपको लगता है कि शरद पवार, मायावती या दूसरे कोई नेता देश को चला सकते हैं? इसीलिए हम केंद्र और राज्य में भाजपा के साथ गठबंधन में शामिल हुए। सपा और बसपा के बीच एक गठबंधन उत्तर प्रदेश में हुआ था, जिसका हाल सब जानते हैं।”

‘मैंने पहली बार घड़ियालू आंसू देखे: ठाकरे 
उद्धव ने शरद पवार के भजीते अजित पवार के प्रेस कॉन्फ्रेंस में भावुक होने पर तंज कसा। उन्होंने कहा कि पिछले दिनों न्यूज में अजित पवार को रोते हुए देखा, पहली बार मैंने घड़ियालू आंसू देखे हैं। वे अपने कार्यकाय में बदले की राजनीति में शामिल रहे, लेकिन भरोसा दिलाते हैं कि हम इसे बढ़ावा नहीं देंगे। इस दौरान ठाकरे ने महाराष्ट्र चुनाव में भाजपा-शिवसेना गठबंधन की मजबूत वापसी का दावा किया।

अगले साल शिवसेना अध्यक्ष के पीछे बैठेंगे फडणवीस: राउत

वहीं, संजय राउत ने कहा कि अब महाराष्ट्र में शिवसेना का मुख्यमंत्री बनाने का समय आ गया है। अगले साल दशहरा रैली में मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस शिवसेना अध्यक्ष ठाकरे के पीछे बैठे नजर आएंगे। शिवसेना का 124 सीटें जीतने का लक्ष्य है, मुझे उम्मीद है कि हमें कम से कम 100 सीटों पर कामयाबी मिलेगी। हमारी योजना सिर्फ चुनाव जीतने की नहीं है, बल्कि हम मंत्रालय पर अपना झंडा फहराना चाहते हैं। महाराष्ट्र की 288 विधानसभा सीटों में से भाजपा 164 पर चुनाव लड़ रही है। राज्य में 21 अक्टूबर को मतदान होगा, नतीजे 24 तारीख को आएंगे।

SHARE