उद्धव ठाकरे ने कहा- 5 साल में कभी गठबंधन को धोखा नहीं दिया, सरकार गिराने की साजिश नहीं की


शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे ने मंगलवार को कहा कि 5 साल के दौरान कभी भी सरकार को गिराने के िलए साजिश नहीं की। उद्धव ने कहा कि हम महाराष्ट्र सरकार में रहे, गठबंधन में होने के बावजूद हमारे पास उतनी ताकत नहीं थी पर हमने कभी भी सरकार को धोखा नहीं दिया। आगामी विधानसभा चुनाव में महाराष्ट्र की 288 सीटों में से भाजपा 150 और शिवसेना 124 सीटों पर चुनाव लड़ेगी। आदित्य ठाकरे वर्ली से चुनाव लड़ेंगे। यह पहली बार है, जब ठाकरे परिवार का कोई सदस्य चुनाव में उतरा है।

उद्धव ने पार्टी के मुखपत्र सामना से कहा- गठबंधन में रहने के दौरान अगर रफ्तार ज्यादा ही तेज हो रही है तो दोनों दलों को सावधानी बरतनी चाहिए। अगर ऐसा नहीं होता तो इसकी वजह से हादसा हो सकता है।

“विकास के लिए लोगों को परेशानी में नहीं डाला जाना चाहिए”
उद्धव ने आरे कॉलोनी में पेड़ काटे जाने का विरोध किया। शिवसेना प्रमुख ने कहा- हम मेट्रो कार शेड के विरोध में नहीं हैं, लेकिन हम उस जगह के चयन के विरोध में हैं, जहां इसे बनाया जाना है। विकास लोगों को परेशानी में डालकर नहीं किया जाना चाहिए। शिवसेना हमेशा ही उन मुद्दों पर आवाज उठाती रहेगी, जो लोगों से जुड़े हैं।

“महाराष्ट्र को बेहतर सरकार मिलेगी”
महाराष्ट्र विधानसभा चुनावों पर उन्होंने कहा कि अगर भाजपा और शिवसेना गठबंधन दोबारा सत्ता में आता है तो महाराष्ट्र को ज्यादा बेहतर सरकार और सुशासन मिलेगा। उद्धव ने मौजूदा गठबंधन सरकार के बारे में कहा- क्या मैंने सरकार को गिराने के लिए साजिश रची या उसे धोखा दिया.. नहीं। पिछले 5 साल के दौरान हम गठबंधन में रहे, जबकि हमारे पास कोई ताकत नहीं थी। हमारे बीच मतभेद थे और जब भी मुझे लगा कि कुछ गलत हो रहा है तो मैंने आवाज उठाई। गठबंधन में बने रहने के लिए भाजपा और शिवसेना दोनों को ही सावधानियां बरतनी होंगी।

उद्धव ने कहा था- शिवसैनिक को मुख्यमंत्री पद पर बैठाऊंगा
इससे पहले सामाना से बातचीत में उद्धव ने कहा था- मुख्यमंत्री पद पर शिवसैनिक को बैठाकर दिखाऊंगा, ये मेरा शिवसेना प्रमुख को वचन है। आदित्य ने चुनाव लड़ने का निर्णय लिया। इसका मतलब यह नहीं है कि मैंने राजनीति से संन्यास ले लिया है। मैं खेती करने भी नहीं जाऊंगा। मैं हूं। और रहूंगा।