बाजार में बैग व पर्स में ब्लेड से चीरा लगाकर सामान चुराने वाली यूपी की महिला गैंग पकड़ी, छह गिरफ्तार


जयपुर. शहर में भीड़भाड़ वाली जगहों पर चकमा देकर या ध्यान बंटाकर राहगीर व खरीदारी करने वाली महिलाओं के बैग में चीरा लगाकर नकदी व कीमती सामान चुराने वाली यूपी की महिला गैंग का पर्दाफाश हुआ है। मामले में माणकचौक थाना पुलिस ने कार्रवाई करते हुए छह महिला जेबतराश को गिरफ्तार कर लिया। इस गैंग को पकड़ने के लिए महिला पुलिसकर्मियों को ऐसी संभावित जगहों पर साड़ी पहनाकर व बैग देकर खरीदारी करने का जाल बिछाया गया। इसमें यह गैंग फंस गई और वे पकड़ी गई।

डीसीपी नार्थ मनोज कुमार चौधरी ने बताया कि गिरफ्तार आरोपी रेश्मा कुरैशी (28)बापू नगर, अहमदाबाद हाल हसनपुरा जयपुर, आरोपी फैजवी खां (20) निवासी बरेली, यूपी हाल किराददार ईदगाह, जयपुर, आरोपी शहजादी कुरैशी (25) निवासी ईदगाह, गलतागेट जयपुर, चौथी आरोपी शहाना(25) निवासी बरेली, यूपी हाल ईदगाह जयपुर, आरोपी जैनब (20) निवासी बरेली यूपी हाल ईदगाह जयपुर और सन्नो (25) निवासी बरेली यूपी हाल ईदगाह जयपुर है।

एडिशनल डीसीपी सुमित गुप्ता के मुताबिक ऋषि गालव नगर, गलतागेट निवासी सुनील कुमार जागा और उनकी पत्नी 30 जुलाई, बुधवार को साड़ी खरीदने पुरोहित जी का कटला, बड़ी चौपड़ गए थे। वहां हनुमान मंदिर के पास अर्जुन मेचिंग सेंटर पर साड़ी खरीद रहे थे। तभी बुरका पहने दो औरतें वहां पहुंची। जिन्होंने सुनील की पत्नी के हाथ में टंगे बैग के चीरा लगाकर पर्स में रखे 12 सौ रुपए, सोने की चेन व अंगूठी चुरा ली।

वे वहां से भागने लगी। तभी भनक लगने पर दंपती ने हल्ला मचा दिया और लोगों ने दोनों महिलाओं को पकड़कर माणकचौक थाने में सूचना दी। पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज भी जुटाए। जिसमें जेबतराशी करते गैंग नजर आ रही थी। इसके बाद थानाप्रभारी जितेंद्र सिंह राठौड़, एसआई महिराम व एएसआई हरिओम सिंह के नेतृत्व में गठित टीम में महिला पुलिसकर्मी ममता, माया व सुमनलता को भी शामिल किया।

इन्हें संभावित जगहों पर साड़ी पहनाकर व हाथ में बैग देकर भेजा। ज्योंही इस गैंग ने महिला पुलिसकर्मी के बैग में चीरा लगाने का प्रयास किया। वे पकड़ी गई।

थानाप्रभारी जितेंद्र सिंह राठौड़ ने बताया कि यह गैंग त्यौहार के वक्त भीड़भाड़ वाली जगहों व मार्केट में खरीदारी करने आने वाली महिलाओं को निशाना बनाती है।

उनके आसपास खड़ी हो जाती है और नजर बचाकर ब्लेड से बैग व पर्स में चीरा लगाकर सामान चुरा लेती है। इसके बाद सामान चुराने वाली महिला इसे अपने पास खड़ी गैंग की दूसरी महिला सदस्य को थमाकर भगा देती है, ताकि शक होने या हंगामा होने पर उनके पास कुछ नहीं मिले और वे पकड़ी भी नहीं जाए। इस गैंग से पूछताछ जारी है।