इन बातों को रखेंगे ध्यान में तो कभी नहीं करेंगे परेशान शनि



ज्योतिष के अनुसार शनि न्याय के देवता हैं, जिस कारण से शनि अगर कोई अपनी ताकत एवं ऊंचे पद का दुरुपयोग करता है या बुरे कर्म करता है उसे उसके कर्मों के अनुसार सजा देते हैं। लेकिन जो मेहनती से व ईमानदारी के साथ सद्कर्म करता है, शनि उससे प्रसन्न हो कर उसके लिये उन्नति के रास्ते खोल देते हैं। अगर हम यहा बताई छोटी छोटी बातों को ध्यान में रखें तो बिना किसी उपाय के शनि सदा हमसे प्रसन्न रहेंगे।

शनिवार के दिन शनि देव का व्रत करने से जातक को शनि की कृपा मिलती है। जिस कारण शनि से संबंधित कोई भी अशुभ प्रभाव का जीवन भर सामना नहीं करना पड़ता। अगर शनिवार का व्रत करते हैं तो शनिवार के दिन व्रत रखने वाले को शनिवार के दिन सुरमा, काले तिल, सौंफ, नागरमोथा और लोध मिले हुए जल से स्नान करना चाहिए, फिर शनिदेव के श्री रूप का पूजन करना चाहिए व शनि मंदिर में तेल चढ़ाना चाहिए। शनि के व्रत में एक समय भोजन करें।

शनिवार के व्रत में इन का प्रयोग करने से बचें –

  • शनिवार के दिन व्रत रखने वालों को नॉनवैज नहीं खाना चाहिए।
  • शनिवार के दिन काली टाईल्स, मार्बल, काले कपड़ों का प्रयोग न करें।
  • इस दिन मकान न खरीदें और कोई भी काम सोच समझकर काम करें।
  • शनिवार के दिन भोजन का पहला भाग कुत्ते को दें।
  • शनिवार का व्रत रखने वाले को दक्षिण दिशा को प्रणाम करना चाहिए व दक्षिण में सिरहाना रखना चाहिए।
  • इस दिन पश्चिम दिशा की ओर मुख करके कार्यों का संचालन करें।
  • शनिवार के दिन शुभकार्य करने से पूर्व पीपल पर पानी वाला नारियल तोड़ें आधा वहीं छोड़ दें आधा बांट दें।
  • व्यापार से संबंधित कोई भी सामग्री शनिवार या अमावाश्या के दिन ना लें।