राजस्थान के टोंक में युवक की हत्या

राजस्थान के टोंक जिले के देवली कस्बे में शादी में एक युवक की हत्या कर दी गई। लोगों का उसक शव नदी में तैरता मिला है। पुलिस मामले की जांच-पड़ताल कर रही है।

मृतक का नाम फूलचंद मीणा बताया जा रहा है, जो देवली के नजदीक कासीर गांव का रहने वाला है। वह सात नवंबर को एक शादी में शामिल होने के लिए दलवासा गांव गया था। आठ नवंबर को सुबह से ही उसका कुछ अता पता नहीं था। वहीं, रविवार यानी दस नवंबर की शाम को दलवासा के पास ही बनास नदी में उसका शव तैरता मिला।

पुलिस ने शव को नदी से बाहर निकलवाकर देवली के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र रखवाया और परिजनों की सूचना दी। परिजन पहुंचे तो उन्होेंने आश्रितों को 25 लाख रुपये मुआवजा और सरकारी नौकरी दिए जाने की मांग करते हुए शव लेने से इन्कार कर दिया और अस्पताल में ही धरने पर बैठ गए। उनकी मांग है कि पुलिस हत्या के मामले का जल्द से जल्द खुलासा करे। पुलिस के अनुसार, मामला हत्या का है और पुलिस इसकी पूरी जांच में जुटी हुई है।

गौरतलब है कि इससे पहले राजस्थान में अलवर जिले के बानसूर पुलिस थाना क्षेत्र के मूडली गांव में एक युवक की नाजायज संबंधों के चलते पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी। युवक के गांव की ही एक विवाहिता के साथ प्रेम नाराजयज संबंध थे। इसकी जानकारी परिजनों को मिली जो उन्होंने बुधवार को युवक राजेंद्र जोगी की पहले तो बेरहमी से पिटाई की और फिर ट्रैक्टर से कुचलकर हत्या कर दी। ट्रैक्टर से कुचलने के बाद भी राजेंद्र जोगी के शव पर चढ़कर आरोपित काफी देर तक दबाते रहे। बानसूर थाना पुलिस ने इस मामले में तीन आरोपितों को हिरासत में लेते हुए पूछताछ शुरू कर दी है।

पुलिस के अनुसार, मुंडली गांव के पहाड़ों पर एक युवक का शव मिलने की सूचना बानसूर थाना पुलिस को मिली थी। उप अधीक्षक अतुल साहू बानसूर पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंचे। प्रारंभिक जांच में शव की पहचान राजेंद्र जोगी के रूप में हुई है । इसके बाद उसके परिजनों को शव की शिनाख्त के लिए बुलाया गया। पुलिस की प्रारंभिक जांच में युवक की पीट-पीटकर हत्या करना सामने आया। पुलिस की जांच में सामने आया कि राजेंद्र जोगी का एक विवाहिता के साथ नाजायज संबंध थे।

राजेंद्र जोगी विवाहिता से मिलने के लिए मंगलवार आधी रात बाद पहुंचा था। विवाहिता के परिजनों ने राजेंद्र जोगी को संदिग्ध अवस्था मे देख लिया। इसके बाद विवाहिता, उसके पति और ससुर समेत परिवार के अन्य लोगों ने मिलकर राजेन्द्र जोगी जमकर पिटाई की।पिटाई से वह घायल हो गया तो उस पर ट्रैक्टर चढ़ा कर उसे मौत के घाट उतार दिया।

उप अधीक्षक अतुल साहू ने बताया कि हत्या के बाद आरोपित राजेंद्र जोगी के शव को पहाड़ों में पटक कर चले गए। ग्रामीणों की सूचना पर बानसूर पुलिस मौके पर पहुंची तो शव की शिनाख्त की गई। एफएसएल टीम मौके पर पहुंची और तथ्य जुटाकर मामला दर्ज कर जांच शुरू की। शव को मोर्चरी में रखवाया जहां से शव का पोस्टमार्टम कर परिजनों को सुपुर्द कर दिया गया। इस मामले में बानसूर पुलिस ने विवाहिता और उसके परिजनों को हिरासत में लिया है और मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

SHARE