एकलिंगपुरा में युवक की गोली मारकर हत्या, किराए के कमरे में मिला शव


सवीना थाना क्षेत्र के एकलिंगपुरा गांव में मंगलवार देर रात पठानकाेट निवासी ऑपरेटर राहुल का शव किराए के कमरे से मिला। उसके सिर पर गोली लगी थी। रात करीब 9 बजे पठानकाेट निवासी उसका दोस्त प्रवीत अपने किराए के कमरे पर गया ताे राहुल का शव पड़ा था और खून फैला था। उसने साथियाें और पुलिस को सूचना दी। पुलिस और एफएसएल टीम के प्रभारी अभय प्रताप सिंह पहुंचे। जांच में सामने आया कि हत्या दाेपहर काे ही हुई थी।

पुलिस ने बताया प्रवीत पिछले सात माह से अनिल पालीवाल के घर किराए के कमरे पर रह रहा था। एक माह पहले ही वह राहुल काे उदयपुर लेकर आया था। मकान मालिक अनिल ने बताया यहां सभी काम करने वाले लोग किराए पर रहते हैं। दिन में सभी काम पर जाते हैं और शाम काे वापस आते हैं। उन्होंने राहुल काे पहले कभी नहीं देखा। उन्हें यह जानकारी भी नहीं कि राहुल एक माह से कहां रह रहा था। पुलिस प्रवीत काे पूछताछ के लिए थाने लेकर गई। प्रवीत देबारी-काया हाइवे निर्माण में ऑपरेटर था।

हेल्पर के रूप में एक माह पहले उसी के गांव के राहुल काे उदयपुर लाया था। सबकाे बताया था कि राहुल रिश्तेदार है। हालांकि दाेनाें के बारे में काेई कुछ ज्यादा नहीं जानता था। पुलिस जांच में सामने आया कि राहुल का माेबाइल करीब आठ दिन पहले से बंद था। इस पर प्रवीत का कहना था कि माेबाइल पानी में गिरने से खराब हाे गया था। इसके बाद से उसने नया नहीं लिया। डिप्टी राजीव जाेशी ने बताया कि सीसीटीवी फुटेज देखकर जांच कर रहे हैं। घटनास्थल की जांच में एक कार्टेज कमरे के बाहर मिला। अधिकारी ने जैसे ही ऊपर देखा ताे वेंटिलेशन पर लगे कांच पर छेद था। कमरे के अंदर देखा ताे उस छेद काे छुपाने के लिए अखबार काे लगा रखा था। घटना से लग रहा है कि हत्या करने के बाद भी अाराेपी कमरे में रुका।

दिन में कार्यक्रम में नाथद्वारा गए थे सभी कर्मचारी, राहुल नहीं गया था 
विश्वकर्मा जयंति पर अवकाश था, भाेज कार्यक्रम के बाद नाथद्वारा गए थे। अन्य कर्मचारियाें ने बताया कि विश्वकर्मा जयंती पर अवकाश था। कंपनी की तरफ से सभी कर्मचारियाें का भाेज कार्यक्रम था। उसी में दाेपहर 12.30 बजे राहुल काे देखा था। इसके बाद प्रवीत के साथ सभी नाथद्वारा के लिए करीब 2.30 बजे निकले थे लेकिन राहुल साथ में नहीं आया। प्रवीत ही कार काे ड्राइव कर रहा था। शाम काे करीब 8 बजे वापस आए ताे प्रवीत ने कार से छाेड़ा और निकल गया था। इसके करीब एक घंटे बाद उसका फाेन आया और घटना के बारे में जानकारी दी।